पिकनिक मनाने गया था पूर्व मुखिया प्रत्याशी निरंजन, साथियों ने कर दिया ढेर; मृतका का रह चुका आपराधिक रिकॉर्ड

खबरें बिहार की जानकारी

मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सीताचरण गांव निवासी पूर्व मुखिया प्रत्याशी निरंजन बिंद की हत्या कर दी गई। सीताचरण दियारा के पास सिंकनी बहियार में पट्टे पर लिए गए खेत की जुताई करने  निरंजन बिंद अपने अन्य साथी बानो यादव, फुद्दन यादव, अरविंद यादव, धनंजय यादव, जाफरनगर के बदन यादव, मानो यादव के साथ पिकनिक मनाने गया था।

इस दौरान निरंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई, जिसके बाद दलदली मिट्टी में शव को दबा दिया गया। गुरुवार की सुबह निरंजन के परिवार और ग्रामीणों ने मुफस्सिल पुलिस को हत्या की सूचना दी। मुफस्सिल थानाध्यक्ष पुलिस जवानों के साथ नाव से गंगा पार दियारा पहुंचे, जहां घटनास्थल से गोली के चार खोखे बरामद किए।

मृतक के चाचा ने साथियों पर लगाया आरोप

 

मृतक के चाचा बाल्मिकी सिंह ने बताया कि‍ निरंजन बिंद 10 वर्षों से पट्टे पर लेकर जन्मडिग्री के एक जमींदार की खेती करता था। बुधवार को खेत में पटवन के लिए पांच से छह लोगों के साथ सिंकनी बहियार गया था, जहां साथियों ने उसकी हत्या कर दी। निरंजन जिस भूमि पर खेती करता था, उसके साथी भी उसी जगह खेती करना चाहते थे, जिसके लिए पैसों का भी लेनदेन हुआ था।

खटिया पर रखकर पीएम हाउस ले गए शव

 

पैसों के लेनदेन और आपसी दुश्मनी हत्या की वजह बताई जा रही है। निरंजन के शव को पुलिस दियारा से नाव से लेकर पहुंची। जहां परिवार के लोग खटिया पर लादकर शव को लेकर पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे, जिसके बाद पीएम कर शव परिजनों को सौंपा गया।

 

सैंपल ले गई एफएसल की टीम

घटना की सूचना मिलते ही भागलपुर से एफएसल की टीम को बुलाया गया, जहां तीन सदस्यीय टीम मुफस्सिल पुलिस के साथ नाव से दियारा पहुंची और घटनास्थल से सैंपल एकत्रति किया। एफएसल जांच रिपोर्ट आने के बाद हत्या के मामले का पर्दाफाश होगा।

हत्या के बाद गांव में दशहत

 

निरंजन बिंद के घर में कोहराम मचा हुआ है। वहीं, हत्या के बाद गंगा पार दियारा क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया है। गांव वाले बताते हैं कि निरंजन बिंद कई राजनीतिक पार्टी से जुड़ाव था। 2021 में जाफरनगर पंचायत से मुखिया के लिए चुनाव लड़ा था, लेकिन किस्मत ने साथ नहीं दिया।

वर्चस्व को लेकर निरंजन की हत्या

सदर एसडीपीओ राजेश कुमार सिन्हा ने बताया की गुरुवार की सुबह में सूचना मिली थी कि सिंकनी बहियार में निरंजन बिंद की हत्या कर दी गई है। शव दलदली मिट्टी में दबा हुआ था। उन्होंने कहा कि मृतक निरंजन बिंद पट्टा लेकर तीन-चार सौ बीघा जमीन पर खेती करता था। मृतक के सहयोगी (दोस्त) भी पट्टेदारी का काम करते थे, इसी को लेकर विवाद चल रहा था। आपसी वर्चस्व को लेकर निरंजन की हत्या हुई है। निरंजन का अपराधिक इतिहास भी रह चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.