फोन मिलाकर डांस करने को कहते हैं सीनियर, मेडिकल कॉलेज में छात्रा के साथ रैगिंग

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के पटना में आईजीआईएमएस संस्थान में रैगिंग का मामला सामने आया है। एमबीबीएस प्रथम वर्ष की छात्रा ने द्वितीय वर्ष के 8 छात्र-छात्राओं पर आधी रात को बुलाकर डांस कराने का आरोप लगाया है। छात्रा ने इसकी शिकायत एंटी रैगिंग हेल्पलाइन और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से की है। एमसीआई ने इसपर कॉलेज प्रशासन से जांच कर रिपोर्ट मांगी है।

देर रात फोन करके परेशान करते हैं सीनियर
पीड़िता ने आरोप लगाया है कि चार सीनियर छात्र और चार सीनियर छात्रा देर रात फोन कर डांस करने को कहते हैं। इतना ही नहीं, विरोध करने पर गाली गलौज भी करते हैं। बिना अनुमति यूनिफार्म नहीं पहनने का भी दवाब बनाते हैं। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि सीनियर्स कहते हैं कि जब सामने से जाएं तो खड़े होकर सैल्यूट करके जाएं। प्रथम वर्ष की छात्रा ने जिनपर आरोप लगाए हैं वो वर्ष 2020 बैच के स्टूडेंट्स हैं। आरोपित छात्रों में रविरंजन, स्वप्निल सरगम, किसलय, फलक तंजीम, अपर्णा, जिशान शेख, तान्या नयन और आदित्य कुमार शामिल हैं।

एंटी रैगिंग हेल्पलाइन पर की शिकायत 
पीड़ित छात्रा ने एंटी रैगिंग हेल्पलाइन पर पांच सितंबर को ही शिकायत की थी। जिसके बाद एंटी रैगिंग हेल्पलाइन ने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को कार्रवाई करने के लिए मेल भेजा। इसके बाद संस्थान की एंटी रैगिंग कमेटी ने 12 सितंबर को आरोपित आठ छात्र-छात्राओं से पूछताछ की।

72 घंटे का दिया गया अल्टीमेटम
प्राचार्य डॉ. रंजीत गुहा का कहना है कि जिन छात्रों पर रैगिंग का आरोप है, उनकी पहचान कर ली गई है। उन्होंने पूछताछ में संतोषजनक जवाब नहीं दिया है। इसलिए एंटी रैगिंग कमेटी ने उन्हें अपना स्पष्टीकरण देने के लिए 72 घंटे का समय दिया है। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। आईजीआईएमएस में भी दो साल पहले ऐसी घटना सामने आई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.