इजराइल में फाइजर कोरोना वैक्सीन का असर 95% से गिरकर 64% हुआ , टीकाकरण के बाद हटा दिया था मास्क, अब चिंता बढ़ी

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें

कोविड का मुकाबला करने के लिए दुनिया भर में टीकाकरण जारी है. जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार अब तक दुनिया भर में 3,220,928,613 लोगों को टीके की खुराक दी जा चुकी है.

वहीँ सोमवार को इजराइल ने कहा कि फाइजर/बायोएनटेक कोविड रोधी वैक्सीन अभी भी गंभीर बीमारी को रोकने में बहुत प्रभावी है. देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि संक्रमण और सिम्पटॉमटिक बीमारी को रोकने के लिए टीके का असर 6 जून को गिरकर 64% हो गया. हालांकि दूसरी ओर अच्छी खबर यह है कि अस्पताल में भर्ती होने सहित कोरोनो वायरस से गंभीर बीमारी को रोकने में वैक्सीन 93% असरदार साबित हुआ.

फॉक्स न्यूज के अनुसार फाइजर के एक प्रवक्ता ने बताया कि इजराइल के आंकड़ों पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता है. प्रवक्ता ने दावा किया कि अन्य रिसर्च में यह संकेत दिए गए हैं कि यह वैक्सीन डेल्टा समेत सभी वैरिएंट्स का मुकाबला करने में सक्षम है.

हालांकि मंत्रालय ने यह जानकारी नहीं दी कि टीके के असर में गिरावट से पहले कोविड संक्रमण के खिलाफ वह कितना प्रभावी था. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार मई में एक रिपोर्ट प्रकाशित हुई थी जिसमें मंत्रालय ने कहा था कि फाइजर वैक्सीन की दो खुराक को संक्रमण, अस्पताल में भर्ती होने और गंभीर बीमारी के खिलाफ 95% से अधिक असरदार बताया था. इजराइल की लगभग 60% आबादी को फाइजर वैक्सीन की कम से कम एक खुराक मिली है. यहां जनवरी में कोरोनोवायरस के मामलों में 1,00,000 से अधिक की गिरावट देखने की मिली थी.

संक्रमण के कमी के बाद इजराइल में लोगों को मास्क समेत कोविड के अन्य प्रोटोकॉल के पालन करने से छूट दे दी गई थी. हालांकि डेल्टा वैरिएंट के फैलने के बाद फिर से कुछ नियम दोबारा लागू कर दिए गए हैं. इतना ही नहीं देश में कोविड के मामले और उनसे होने वाले मौतों की संख्या भी बढ़ रही है. रविवार यानी 4 जून को देश में 343 मामले पाए गए और 35 लोगों की मौत हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *