बिहार में पेट्रोलियम मंत्रालय करेगा 30 हजार करोड़ निवेश, राज्य बनेगा बॉयोडीजल उत्पाद हब

खबरें बिहार की

Patna: बिहार में पेट्रोलयम मंत्रालय 30 हजार करोड़ रुपए निवेश करेगा। सूबे में 20 एथनॉल (बॉयोडीजल) प्लांट लगाने का प्रस्ताव मिला है। इस पर सरकार जल्द निर्णय लेगी। यह जानकारी उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने दी है। शाहनवाज ने सोमवार को विधान परिषद में उद्योग विभाग के बजट पर अपनी बात रख रहे थे। मंत्री ने कहा कि बिहार बॉयोडीजल उत्पादन का हब बनेगा। जल्द ही देश का बहुमूल्य विदेशी मुद्रा (डॉलर) बचेगा। उन्होंने यह भी कहा कि हाल में मैंने जब यह कहा था कि मिल में इधर से मक्का डालेंगे तो उधर से डॉलर निकलेगा तो विपक्षी इस पर हंसे थे। मेरा मतलब यही था कि एथनॉल का उत्पादन करके विदेशी मुद्रा को बचाया सकता है।

एथनॉल उत्पाद में 5वें नंबर पर है बिहार
मंत्री शाहनवाज ने बताया कि देश में एथनॉल उत्पादन में बिहार 5वें नंबर पर है। अब दूसरे नंबर पर पहुंचने की तैयारी है। सूबे में 12 करोड़ लीटर एथनॉल का उत्पादन होता है। भविष्य में इसे 50 करोड़ लीटर करने का लक्ष्य है। फिलहाल पेट्रोल में 6.2 प्रतिशत एथनॉल की ब्लेडिंग होती है। इसे 2022 तक बढ़ाकर 10 फीसदी और 2025 तक 25 ब्लेडिंग करने का लक्ष्य है। मंत्री ने कहा कि 20 प्रतिशत ब्लेडिंग होने से देश में 400 करोड़ लीटर एथनॉल की जरूरत होगी। 25 प्रतिशत होने पर 10 हजार लीटर एथनॉल की जरूरत पड़ेगी।

संजय मयूख ने विपक्षियों पर कस तंज
भाजपा नेता संजय मयूख ने विधान परिषद के सत्र के दौरान विपक्षियों पर तंज कसा और कहा कि इन्हें उद्योग विभाग का ब्लू प्रिंट इनको समझ नहीं आएगा। इन्हें ब्लू प्रिंट दिखाया जाएगा। मयूख ने कहा कि विपक्षियों को ब्लू प्रिंट समझना है तो रिपोर्ट का सातवां पेज दिखना चाहिए।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *