दिवाली-छठ में बिहार आने वाले लोगों की बढ़ी मुसीबत, ट्रेन में नो रूम तो फ्लाइट का किराया दोगुना

खबरें बिहार की

Patna: त्योहारों का सीजन शुरू होते ही बिहार से बाहर रहने वाले लोग बड़ी संख्या में बिहार लौटते हैं. ट्रेनों में लम्बी वेटिंग और नो रूम के बाद मजबूरन लोग हवाई सफर ज्यादा कर रहे हैं लेकिन हवाई सफर के लिए उन्हें टिकट के मूल किराए से अधिक कीमत चुकानी पड़ रही है. दिल्ली, कोलकाता, मुम्बई, बंगलुरू, पुणे सहित देश के कई अन्य शहरो से लौटने वाले लोगों को बतौर प्लेन किराया पहले से 2 हजार से 25 सौ अधिक रुपये चुकाने पड़ रहे हैं.

हालांकि जिन लोगों ने दो-तीन महीने पहले टिकट ले लिया था, उन पर नया दर लागू नहीं होता है. आम दिनों में दिल्ली से पटना का किराया सामान्य तौर पर 2800 से 5500 रुपए तक होता है, जो आज के समय मे बढ़कर 7 हजार रुपए तक हो गया है. वहीं, मुम्बई से पटना का किराया 9 हजार रुपए तक हो गया है.

कोलकाता जा रहे मनोज कुमार ने बताया कि ज्यादा पैसा देकर टिकट लेना पड़ रहा है. 25 सौ का टिकट हमने 5000 में खरीदा है, इससे काफी परेशानी हो रही है. कोलकाता से पटना आए बिट्टू कुमार ने बताया कि पहले के किराए से 2000 ज्यादा देकर हमें हवाई सफर करना पड़ा है. पर्व-त्योहार के मौसम होने के कारण ज्यादा किराया देना पड़ रहा है. दिल्ली से आने वाले इम्तियाज ने बताया कि 7000 रुपए में टिकट खरीदना पड़ा.

ट्रेवल एजेंट सन्तोष सिंह का कहना है कि अक्टूबर के अंतिम हफ्ते से लेकर छठ पर्व के बाद तक पटना आने वाले जितने भी विमान हैं, सभी में टिकट फुल है और सभी में 2 हजार से 25 सौ तक अधिक पैसे लग रहे हैं. ये हर साल त्योहारों के सीजन में होता है. कुल मिलाकर देखें तो दीपावली और छठ पर जो लोग हवाई मार्ग से बिहार अपने घर आ रहे हैं उन्हें महंगे दर पर टिकट लेना पड़ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.