पटना मेट्रो : 6डिब्बों के साथ 30Km/h की रफ्तार से दौड़ेगी, दोनों कॉरिडोर पर चलेगी एक-एक जोड़ी ट्रेनें

खबरें बिहार की

पटना: पटना में मेट्रो निर्माण की दिशा में काम रफ्तार पकड़ते ही मेट्रो ट्रेनों की रफ्तार भी तय कर दी गयी है। पटना में मेट्रो 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी। मेट्रो ट्रेन की औसत रफ्तार के साथ यह भी तय हो गया है कि यहां छह डिब्बे वाली ट्रेन दौड़ाई जाएगी। वहीं मेट्रो के दोनों कॉरिडोर पर एक-एक जोड़ी ट्रेनें चलाई जाएंगी। उधर, मेट्रो की बात शुक्रवार को एक कदम और आगे बढ़ गई। लोक वित्त समिति ने डीपीआर को मंजूरी दे दी। इसी के साथ डीपीआर के अगली राज्य कैबिनेट में रखे जाने का रास्ता साफ हो गया।

पटना में मेट्रो रेल परियोजना लगातार आगे बढ़ रही है। मेट्रो की एसपीवी (स्पेशल परपज व्हीकल) गठन को कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है। पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड ही मेट्रो के निर्माण, संचालन और रखरखाव का जिम्मा देखेगी। उधर, मेट्रो की नई डीपीआर के हिसाब से पटना के ईस्ट-वेस्ट और नार्थ-साउथ कॉरिडोर में दो-दो मेट्रो ट्रेनें चलाई जाएंगी। ये मेट्रो अपने रूट पर कितने चक्कर लगाएंगी, यह अभी यात्रियों की संख्या को देखते हुए तय किया जाएगा। यूं तो मेट्रो ट्रेन में डिब्बों की संख्या चार से दस तक होती है मगर पटना में छह कोच वाली मेट्रो चलेगी। भविष्य में ट्रैफिक बढ़ने पर कोच बढ़ाने का प्रावधान डीपीआर में है।

उधर, नगर विकास एवं आवास विभाग में मेट्रो की डीपीआर को लोक वित्त समिति से स्वीकृति को लेकर शुक्रवार की सुबह से ही कवायद शुरू हो गई थी। विभाग के प्रधान सचिव और मेट्रो एसपीवी के चेयरमैन चैतन्य प्रसाद, विशेष सचिव संजय दयाल से मेट्रो के संबंध में मुख्य सचिव दीपक कुमार ने भी बात की। उसके बाद लोक वित्त समिति से डीपीआर स्वीकृति का रास्ता साफ हो गया। यदि शुक्रवार को इसे स्वीकृति नहीं मिल पाती तो इसे अगली कैबिनेट में नहीं रखा जा सकता था। विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता वाली समिति ने इसे मंजूरी दे दी। अब अगले सप्ताह होने वाली कैबिनेट में इसे रखा जाएगा। कैबिनेट की मुहर लगते ही अगले दिन डीपीआर केंद्र को भेज दी जाएगी।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.