पटना में STET अभ्यर्थियों का विधानसभा मार्च, पुलिस संग झड़प के बाद सात हिरासत में

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार की राजधानी पटना में एसटीईटी-2019 मेरिट उम्मीदवारों ने अपनी मांग को लेकर विधानसभा मार्च किया। साथ ही सड़क पर बैठकर काफी संख्या में पहुंचे अभ्यर्थियों ने नारेबाजी भी की। इस बीच पुलिस और अभ्यर्थियों के बीच झड़प भी हो गई। जिसके बाद पुलिस ने सात लोगों को हिरासत में ले लिया है। बता दें कि अभ्यर्थियों का यह आंदोलन पिछले 22 दिनों से चल रहा है।

एसटीईटी की बहाली अंकों के आधार पर हो, बहाली को ऑनलाइन सेंट्रलाइज किया जाए, इन मांगों को लेकर एसटीईटी अभ्यर्थियों ने विधानसभा मार्च किया है। इस दौरान सैंकड़ों अभ्यर्थी नारेबाजी कर रहे थे। गर्दनीबाग से अभ्यर्थियों ने मार्च शुरू किया। यारपुर के पास पुलिस प्रशासन द्वारा उन्हें रोक दिया गया। इसके बाद अभ्यर्थियों के साथ पुलिस की झड़प हो गई। इसमें सात अभ्यर्थियों को हिरासत में लिया गया। इसमें आलोक यादव, अनिल कुमार, अभिषेक झा, शिखा, अरूणिमा, प्रतिभा, अजेश कुमार शामिल हैं।

अभ्यर्थी आलोक यादव ने बताया कि आंदोलन अनिश्चितकालीन चल रहा है। आंदोलन के 22वें दिन विधानसभा मार्च किया गया। जब तक हमारी मांग मांगी नहीं जायेगी, हम लोग आंदोलन जारी रखेंगे। अभ्यर्थी शिखा ने बताया कि एसटीईटी 2019 के परिणाम में चयनित होने के बाद भी अभी तक बहाली शुरू नहीं किया गई है। हमारी मांग है कि नियमावली में संशोधन कर अंक के आधार पर बहाली की जाए। सरकार मेरिट में आए हुए अभ्यर्थी का नियोजन जल्द से जल्द अंकों के आधार पर करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.