पटना में गुम हो गया MP-राजस्थान से लूटा गया 40 किलो सोना, गैंग की पहचान में उलझी दोनों राज्यों की पुलिस

खबरें बिहार की जानकारी

मध्यप्रदेश के कटनी और राजस्थान से 40 किलो सोना लूटकांड मामले का मास्टरमाइंड एक ही है, लेकिन लूट में शामिल अपराधियों का काम अगल-अलग था। रेकी करने से लेकर हथियार व गाड़ी का इंतजाम, लूट का सोना तय ठिकाने तक पहुंचाने से लेकर पटना लाने वाले ग्रुप का अलग-अलग काम था। दोनों राज्यों से लूट का सोना पटना के दानापुर व उसके आसपास के इलाके में कार से पहुंचाए गए थे। इसके बाद लूट का सोना एक ऐसे गैंग को डिलीवरी कर दी गई, जिसे लूटकांड में शामिल अपराधी भी अंजान थे। इसकी जानकारी सिर्फ सरगना या उसके बेहद खास गुर्गे को ही थी।

यहां आकर पुलिस की जांच फंस जा रही है। दोनों राज्यों की पुलिस वाहन चालक से लेकर पकड़े गए तीनों अपराधियों से पूछताछ कर चुकी है। इसका पुख्ता प्रमाण मिल चुका है कि 40 किलो सोना पटना आने के बाद किसी दूसरे वाहन में शिफ्ट कर दिया गया, लेकिन इसके आगे पुलिस अंधेरे में है। सोना पटना में कहां गुम हो गया, यह पता करना दोनों राज्यों की पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई है। फिलहाल, दोनों राज्यों की पुलिस दानापुर व उसके आसपास के इलाकों में लगे कैमरों को खंगाल रही है। पटना में कैंप कर संदिग्धों से पूछताछ कर रही है।

दोनों वारदातों में अपराध की शैली एक जैसी

दोनों वारदातों में अपराध की शैली एक जैसी है। उदयपुर और कटनी दोनों जगहों पर मणप्पुरम गोल्ड लोन के आफिस में सोना लूट मामले में पांच-पांच अपराधी शामिल थे। लुटेरों ने पास में ही किराए का कमरा लिया था। लूटकांड में शामिल बदमाश बाइक से आए थे। दोनों लूटकांट को अपराधियों ने 20 से 25 मिनट में अंजाम दिया। इसके साथ ही दोनों वारदातों में अपराधी बाइक को छोड़ पहले से खड़ी कार में लूट का सोना लेकर फरार हुए थे।

जेल में सरगना, मुठभेड़ में मनीष ढेर, फिर कौन डंप कर रहा सोना?

सोना लुटेरों की बात की जाए तो सुबोध सिंह का नाम सबसे ऊपर है, जो बेउर जेल में है। दूसरा सबसे बड़ा चेहरा था मनीष, जो मुठभेड़ में मारा जा चुका है। अब बड़ा सवाल है कि आखिर बाहर कौन है, जो दूसरे राज्यों में सोना लूट रहा है। सूत्रों की मानें तो मनीष गैंग के दो लुटेरे सन्नी और धर्मवीर बाहर हैं। सुबोध और मनीष का गैंग दो सौ किलो से अधिक सोना लूट चुका है। वहीं, सितंबर 2016 से नवंबर 2022 तक चार राज्यों में 176 किलो सोना लूट की वारदातें हो चुकी हैं।

सितंबर 2016 से नवंबर 2022 तक सोना लूट के प्रमुख मामले

  • सितंबर 2016: महाराष्ट्र के नागपुर में मणप्पुरम गोल्ड लोन आफिस का 30 किलोग्राम सोना लूट।
  • जुलाई 2017: राजस्थान के जयपुर मुथुट फाइनेंस कंपनी के आफिस से 30 किलो आभूषण लूट।
  • दिसंबर 2017: पश्चिम बंगाल के आसनसोल में मुथुट फाइनेंस का 50 किलोग्राम सोना की लूट।
  • जनवरी 2018: राजस्थान के कोटा में मणप्पुरम गोल्ड लोन के आफिस से 28 किलो सोना लूट।
  • अगस्त 2022: उदयपुर में दिनदाहड़े मणप्पुरम गोल्ड लोन के आफिस में 24 किलोग्राम सोना लूट।
  • नवंबर 2022: मध्य प्रदेश के कटनी में मणप्पुरम गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी से 14 किलो सोना लूट।

Leave a Reply

Your email address will not be published.