पटना में डेंगू के 78 नए केस मिले, 10 दिनों 4 गुना बढ़े मरीज

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार की राजधानी पटना में कुल 78 नए डेंगू मरीज मिले हैं। इनमें 31 पीएमसीएच में, जबकि 12 शहर के अलग-अलग हिस्से में मिले। वहीं आईजीआईएमएस में जांच में 15 मरीजों की पहचान हुई। दूसरी ओर एनएमसीएच में जांच में 20 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। सोमवार की जांच रिपोर्ट से यह जानकारी मिली।

पीएमसीएच में कुल 80 लोगों की जांच की गई थी। पिछले 10 दिनों में शहर में डेंगू के मामले में चार गुना से अधिक वृद्धि हुई है। 10 दिन पहले पटना में डेंगू पीड़ितों की संख्या 110 के आसपास थी।

सोमवार को अब कुल पीड़ितों की संख्या 473 पर पहुंच गई है।  एनएमसीएच के माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग में सोमवार को 58 मरीजों के सैंपल की डेंगू जांच हुई। इसमें 20 की रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी। प्राचार्य डॉ. एचएल महतो ने बताया कि माइक्रोबायोलॉजी विभाग में हो रही जांच में लगभग रोज डेंगू मरीज मिल रहे हैं। मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ. अजय कुमार सिन्हा ने बताया कि विभाग के आइसीयू में भर्ती एक गंभीर मरीज को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। फिलहाल अस्पताल में डेंगू के 14 मरीजों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है।

जलजमाव वाला इलाका बन रहा हॉट स्पॉट

जलजमाव से सर्वाधिक प्रभावित पटना का बांकीपुर, अजीमाबाद और कंकड़बाग अंचल डेंगू का हॉट स्पॉट बन गया है। सरकारी आंकड़े के अनुसार अबतक पटना में कुल 473 डेंगू पीड़ित चिह्नित किए गए हैं। इनमें सबसे अधिक बांकीपुर अंचल में 114, अजीमाबाद में 111 और कंकड़बाग में 80 पीड़ित पाए गए हैं। वहीं, पटना सिटी अंचल में 58, पाटलिपुत्र अंचल में 21 और एनसीसी अंचल में 10 डेंगू पीड़ित मिले हैं।

नगर निगम का हर मोहल्ला प्रभावित

जिला संक्रामक रोग पदाधिकारी डॉ. सुभाष चंद्र प्रसाद ने बताया कि पटना नगर निगम क्षेत्र का कोई भी मोहल्ला डेंगू से अब अछूता नहीं रह गया है। लेकिन शहर के सर्वाधिक केस उन्हीं मोहल्ले से आ रहे हैं जो या तो जलजमाव से प्रभावित हैं अथवा जहां निर्माण कार्य के दौरान जगह-जगह गड्ढ़े खोद कर छोड़े गए हैं। अजीमाबाद अंचल का जल्ला क्षेत्र, कंकड़बाग का ट्रांसपोर्ट नगर ऐसे इलाके हैं, जहां लोग पानी जमा कर सिंघाड़ा आदि की खेती कर रहे हैं। इससे वहां मच्छरों को पनपने का अनुकूल माहौल मिल रहा है। दूसरी ओर निजी अस्पतालों और जांच लैबों में सैकड़ों की संख्या में डेंगू पीड़ित मरीज पहुंच रहे हैं।

कंकड़बाग में बाईपास नाले के अलावा मीठापुर बस स्टैंड, चांदमारी रोड, करबिगहिया और पोस्टल पार्क इलाके में डेंगू से लगभग हर घर प्रभावित है। वहीं, एनसीसी अंचल में गर्दनीबाग, जयप्रकाश नगर व सरिस्ताबाद में डेंगू का प्रकोप ज्यादा है। पाटलिपुत्र अंचल में आनंदपुरी, न्यू पाटलिपुत्रा कॉलोनी, इंद्रपुरी, पुनाईचक, पटेलनगर, दीघा, रामनगरी आदि मोहल्ले में डेंगू का प्रकोप बहुत ज्यादा है। डॉ. सुभाष ने बताया कि फॉगिंग कराने के लिए डेंगू प्रभावित मोहल्ले की सूची पटना नगर निगम को भेजी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.