बिहार के पांच शहरों में पटना जैसा रिंग रोड बनेगा, राज्य सरकार के प्रस्ताव को केंद्र की मंजूरी

खबरें बिहार की

Patna: बदतर ट्रैफिक व्यवस्था से जूझ रहे बिहार के पांच प्रमुख शहर की स्थिति सुधरने वाली है. इन शहरों में पटना की तर्ज पर रिंग रोड बनाया जायेगा. बिहार के पथ निर्माण विभाग ने केंद्र सरकार को ये प्रस्ताव दिया था. केंद्र सरकार ने इन शहरों में रिंग रोड बनाने की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है. गौरतलब है कि फिलहाल बिहार में सिर्फ एक शहर पटना में रिंग रोड का निर्माण हो रहा है. रिंग रोड के निर्माण के बाद नये इलाकों का विकास होने के साथ साथ ट्रैफिक समस्या दूर होने की भी संभावना है.

इसी बीच बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने केंद्र सरकार से बिहार के पांच औऱ प्रमुख शहरों में रिंग रोड बनाने के लिए मदद की गुहार लगायी थी. नितिन नवीन ने पिछले दिनों केंद्रीय सड़क एवं राजमार्ग परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की थी. बिहार सरकार का कहना था कि पटना के अलावा बिहार के कई और प्रमुख शहर हैं जो न सिर्फ भौगोलिक और आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण हैं बल्कि उनका ऐतिहासिक औऱ पर्य़टन के लिए भी महत्व है. मंत्री ने इन शहरों में ट्रैफिक दबाव को कम करने और लोगों का सफर आसान करने के लिए रिंग रोड बनाने का प्रस्ताव दिया था, जिसे केंद्र सरकार ने स्वीकार कर लिया है.

इन पांच शहरों में बनेगा रिंग रोड

बिहार सरकार के पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों के अनुसार जिन पांच शहरों में रिंग रोड बनना है उनमें से तीन का नाम फाइनल हो गया है. ये तीन शहर हैं मुजफ्फरपुर, गया औऱ भागलपुर. हालांकि दो और शहर के नाम भी लगभग तय हैं लेकिन उन पर विचार चल रहा है. सरकार ने दरभंगा, बेगूसराय, आरा, कटिहार और  छपरा जैसे शहरों में रिंग रोड बनाने पर विचार किया है. पथ निर्माण विभाग ने दरभंगा और आरा में रिंग रोड बनाने का फैसला भी लगभग ले ही लिया है लेकिन उस पर आखिरी मुहर नहीं लगी है.

पथ निर्माण विभाग के मुताबिक इन शहरों में रिंग रोड बनाने के लिए सर्वे और दूसरे बुनियादी काम की प्रक्रिया शुरू की जा रही है. वहां ट्रैफिक लोड की भी जानकारी ली जा रही है.  जब शुरूआती काम हो जायेगा तो पथ निर्माण विभाग केंद्र सरकार को आखिरी प्रस्ताव सौंपेगा ताकि रिंग रोड का निर्माण शुरू  हो सके. रिंग रोड बनाने के लिए केंद्र सरकार मदद करेगी लेकिन राज्य सरकार भी अपने हिस्से का पैसा लगायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.