पटना के इस्कॉन मंदिर में पहले ही दिन ‘चोरनी गैंग’ ने मचाया तांडव, 15 महिलाओं के गले से काटी चेन

जानकारी

पटना में इस्कॉन मंदिर के उद्घाटन होते ही यहां कृष्ण भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। भक्तों की भारी भीड़ देख चोर और झपटमार भी यहां सक्रिय हो गए हैं। पहले ही दिन दर्जनभर से अधिक महिलाओं के गले से चेन काट ली गई। पुलिस ने एक आरोपी महिला को गिरफ्तार किया है। हैरानी की बात यह है कि मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार और अन्य कई वीवीआईपी की मौजूदगी में मंदिर का उद्घाटन किया गया और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

इस्कॉन मंदिर में दर्शन करने के दौरान मंगलवार की रात 15 से अधिक महिलाओं के गले से सोने की महंगी चेन काट ली गई। घटना की शिकर 8 महिलाओं ने कोतवाली में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। घटना की शिकार बनी महिलाओं में इंजीनियर, कारोबारी समेत अन्य महिलाएं शामिल हैं। मौके से चेन काटने वाली एक शातिर महिला को पकड़ कर कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया गया है।  पकड़ी गई शातिर महिला ने अपना नाम शिवानी राव (28) पिता दौरे राव थाना मगरा जिला हुगली कोलकाता बताया है लेकिन उसके कब्जे से कोई चेन बरामद नहीं हुई है।

घटना की शिकार महिलाओं ने आशंका जताई है कि पकड़ी गई शातिर महिला के गिरोह में कई और महिलाएं शामिल रहीं हैं। महिलाओं के गले से काटी गई सोने की चेन उसके द्वारा गिरोह में शामिल अन्य महिलाओं के सुपुर्द कर दिया गया होगा। कोतवाली पुलिस पकड़ी गई शातिर महिला से पूछताछ करते हुए गिरोह में शामिल अन्य  शातिर महिलाओं की तलाश में इस्कान मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालने में जुटी है।

इन महिलाओं के गले से काटी गई चेन


जिन महिलाओं के गले से सोने की चेन काटी गई है और उनके द्वारा कोतवाली थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है उनमें माया चरण, पति शैलेंद्र चरण निवासी 201 ग्रैंड अपार्टमेंट थाना कोतवाली, सुधा देवी पति स्व. नरेश कुमार राय निवासी रोड नंबर 24 राजीवनगर, अंशु बरनवाल पति पंकज कुमार निवासी नंदपुरी कालोनी खाजपुरा शास्त्रीनगर,डोली कुमारी पति जयहिंद कुमार निवासी मौर्य पथ खाजपुरा ज्योतिपुरम कालोनी शास्त्रीनगर,अनिता कुमारी पति केदारनाथ अमृत निवासी दानापुर,सोनम निवासी 203 केशव सदन एसकेपुरी,सारथी त्रिपाठी पति बीबी त्रिपाठी निवासी चारूतारा न्यू बहादुरपुर कालोनी थाना बहादुरपुर,सिंधु कुमारी निवासी गर्दनीबाग शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.