Patna Junction दिखेगा न्यूयार्क एयरपोर्ट की तरह

खबरें बिहार की

Patna Junction एवं पटना साहिब स्टेशन के विकास का खाका तैयार है। सबकुछ ठीक रहा तो 2030 में रेलयात्रियों को एयरपोर्ट की तरह सुविधा मिलेगी।

पटना साहिब स्टेशन को अमेरिका के न्यूयार्क स्थित ग्रैंड सेंट्रल स्टेशन की तर्ज पर विश्व स्तरीय बनाया जाएगा। पटना जंक्शन का लुक अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की तरह होगा। स्टेशन भवन को बनाने में 450 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए जाएंगे।

स्टेशन भवन में शॉपिंग मॉल, मल्टीप्लेक्स, उत्कृष्ट रेस्तरां, तीन सितारा होटल, अत्याधुनिक सुख-सुविधाओं से लैस लाउंज, रिटेल आउटलेट्स के साथ ही बहुमंजिली वाहन पार्किंग की भी व्यवस्था होगी।




इन भवनों में निकास व प्रवेश के कई रास्ते बनाए जाएंगे जहां लगेज स्कैनर के साथ ही अन्य सुरक्षात्मक उपाय किए जाएंगे। पूरे भवन को इंटीग्रेटेड सिक्योरिटी सिस्टम से लैस किया जाएगा।



Patna Junction : सब-वे से बाहर निकलेंगे यात्री…

नए भवन को तीन स्तर पर बनाया जाएगा। ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों के निकास के लिए बेसमेंट से सब वे बनाया जाएगा। बेसमेंट होते हुए वे सीधे बाहर की ओर पार्किंग अथवा निकास द्वार पर निकल जाएंगे।

Patna Junction

 

ट्रेन का इंतजार करने वाले यात्रियों के बैठने की पूरी व्यवस्था की जाएगी। उनके लिए गद्देदार कुर्सियां, प्लेटफार्म पर आरओ वाटर बूथ, मुफ्त वाई-फाई, वातानुकूलित प्रतीक्षालय, अत्याधुनिक शौचालय के साथ ही तमाम यात्री सुविधाएं उपलब्ध होंगे।

उनके लिए एयरपोर्ट की तर्ज पर वीआइपी लाउंज बनाया जाएगा जहां आधुनिक सोफा, मुफ्त वाइ-फाइ की सुविधा होगी, अत्याधुनिक शौचालय, ड्रेसिंग रूम, बड़ा एलईडी टीवी स्क्रीन लगा होगा, आरओ वाटर प्लांट समेत तमाम सुविधाएं होंगी।

यात्रियों के लिए अलग से वाहन पार्किंग की व्यवस्था होगी। दूसरे माले के ऊपर के फ्लोर का उपयोग व्यावसायिक किया जाएगा। पीपीपी मोड पर आठ से दस माले तक के भवन का निर्माण हो सकता है।




इसमें शापिंग मॉल, मल्टीप्लेक्स, रिटेल आउटलेट्स, कॉफी शॉप, कॉरपोरेट आफिस, हर तरह के देशी-विदेशी व्यंजन परोसने वाले रेस्तरां, आधुनिक सुविधाओं से लैस तीन सितारा होटल आदि की सुविधा उपलब्ध होगी। Patna Junction एवं पटना साहिब स्टेशन के विकास का खाका तैयार है। सबकुछ ठीक रहा तो 2030 में रेलयात्रियों को एयरपोर्ट की तरह सुविधा मिलेगी।



Leave a Reply

Your email address will not be published.