मैट्रिक परीक्षा के दौरान हड़ताल पर गए शिक्षकों के खिलाफ बिहार सरकार एक्शन में है. शिक्षा विभाग ने ऐसे शिक्षकों का जनवरी और फरवरी महीने का वेतन रोक दिया है. बता दें कि जो हड़ताल पर नहीं हैं, ऐसे शिक्षकों के लिए जनवरी और फरवरी के वेतन के लिए 1300 करोड़ से अधिक की राशि जारी कर दी गई है. बिहार शिक्षा परियोजना निदेशक संजय सिंह ने इस बाबत 19 फरवरी को संबंधित अधिकारियों को आदेश जारी किया. जो शिक्षक ड्यूटी पर हैं, केवल उन्हें ही वेतन दिया जाएगा.



परियोजना निदेशक संजय सिंह ने जो निर्देश जारी किया है, इसके तहत जो शिक्षक अपने कर्तव्य पर उपस्थित हैं और हड़ताल में शामिल नहीं हैं, उन्हें ही वेतन भुगतान किया जाएगा. गौरतलब है कि मंगलवार को एक बैठक में विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने हड़ताली शिक्षकों के वेतन को रोकने के लिए आदेश दिया था.



DEO को मिलेगी पर्याप्त सुरक्षा
बता दें कि सरकार ने वैसे जिला शिक्षा अधिकारियों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश सभी डीएम और एसएसपी को दिया है जो खुद के लिए सुरक्षा की मांग करेंगे. दरअसल, दो शिक्षकों की बर्खास्तगी के बाद पटना के डीईओ के साथ शिक्षकों द्वारा दुर्व्यवहार करने का आरोप है. गृहराज्‍य विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने सभी जिलाधिकारी एवं वरीय आरक्षी अधीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि जो भी शिक्षा अधिकारी सुरक्षा की मांग करते हैं, उन्हें अविलंब सुरक्षा मुहैया कराई जाए.

दो शिक्षकों को किया गया था बर्खास्त
बता दें कि मंगलवार को मैट्रिक परीक्षा में व्यवधान डालने वाले पटना के दो शिक्षकों को सेवा से बर्खास्त कर दिया था. साथ ही सहरसा में अभिलेखों को नुकसान पहुंचाने और स्कूल को बंद कराने के आरोप में चार शिक्षकों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी.

Sources:-News18

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here