पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने वाला महात्मा गांधी सेतु सील, पास वाली गाड़ियों को ही मिलेगी इंट्री

खबरें बिहार की

देश भर में जारी कोरोना संकट से निपटने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देशव्यापी लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिए जाने के बाद से पुलिस प्रशासन इसके अनुपालन को लेकर पूरी सख्ती से जुट गया है. पटना (Patna) और वैशाली जिले को जोड़ने वाले और उत्तर बिहार की लाइफ लाइन कहे जाने वाले महात्मा गांधी सेतु के बॉर्डर को बुधवार को जिला प्रशासन की टीम ने सील कर दिया.

पासधारक गाड़ियों की ही मिलेगी एंट्री
पटना सिटी एसडीओ और एडिशनल एसपी ने महात्मा गांधी सेतु पहुंचकर पटना और वैशाली जिले की सीमा को सील कर दिया. इसकी जानकारी देते हुए सिटी एसडीओ ने बताया कि पुल के रास्ते अब सिर्फ जिला प्रशासन द्वारा निर्गत पासधारियों और अति आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों की गाड़ियों के परिचालन की अनुमति रहेगी. सिटी एसडीओ ने आम लोगों से लॉकडाउन का अनुपालन किए जाने की अपील की है वहीं मौके पर मौजूद एडिशनल एसपी ने महात्मा गांधी सेतु पर चौबीसों घंटे पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात किए जाने की बात दोहराते हुए सुरक्षा को लेकर लोगों से घरों में ही रखने की अपील की है.

3 मई तक के लिए विस्तारित किए गए हैं पास

बिहार में लॉकडाउन के दौरान राजधानी पटना की आवश्यक सेवाओं को जारी करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा जारी पास को 3 मई तक के लिए विस्तारित कर दिया गया है. इसकी जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए पास को रिन्यूल कराने की जरूरत नहीं है. पहले से जारी पास को ही 3 मई तक के लिए विस्तारित किया गया है.

इन सेवाओं को दी गई है छूट
लॉकडाउन की अवधि में आवश्यक सेवाएं जैसे होम डिलीवरी, मेडिकल, बैंक, नर्सिंग समेत अन्य आपातकालीन सेवाओं से जुड़े व्यक्ति इसका फायदा उठा सकेंगे. इससे पहले जिला प्रशासन द्वारा ऐसी सेवा में लगे लोगों के लिए 14 अप्रैल तक के लिए पास निर्गत किया गया था, ताकि लॉकडाउन के दौरान सभी सेवाएं सुचारू रूप से चल सकें और लोगों को दैनिक जरूरत की वस्तुएं आसानी से मिल सकें.

Sources:-News18

Leave a Reply

Your email address will not be published.