मुंबई से सटे कल्याण के डोंबिवली इलाके के झोपड़पट्टी इलाके में रहने वाले भाऊसाहेब अहिरे को इनकम टैक्स विभाग की तरफ से एक करोड़ रुपए से आधिक इनकम टैक्स भरने का नोटिस दिया गया है. इस नोटिस के बाद से ही भाऊसाहेब और उनके परिवार के लोगों की रातों की नींद उड़ गई है. भाऊसाहेब दिहाड़ी मजदूर का काम करते हैं जो अपने पूरे परिवार के साथ एक कमरे के घर मे रहते हैं. भाऊसाहेब पास के नाके पर रोजाना दिहाड़ी मजदूरी के काम के लिए जाते हैं. इससे रोजाना 350-400 रुपए तक की कमाई हो जाती हैं. घर का खर्च चलाने के लिए पत्नी पापड़ बनाने का काम करती हैं.

भाऊसाहेब के परिवार में दो लड़कियां और एक लड़का है. पति-पत्नि की कमाई से किसी तरह से घर का खर्च चल जाता है. भाऊसाहेब को पिछले साल सितंबर महीने में एक बैंक से नोटिस आया कि उन्होने नोटबंदी के दौरान बैंक में 78 लाख रुपए जमा किए हैं लेकिन कम पढ़े होने के कारण भाऊसाहेब ने उसपर ध्यान नहीं दिया और अपना काम करते रहे.

12 दिसंबर को इनकम टैक्स विभाग की तरफ से उन्हें एक और नोटिस आया जिसमें कहा गया है कि उन्हें इनकम टैक्स के रूप में 1 करोड़ 5 लाख 82 हजार रुपए भरना है. इस नोटिस को देखने के बाद भाऊसाहेब नगर सेवक के पास गए. जिसके बाद इस मामले के बारे में पुलिस को सूचित किया गया. नोटिस आने के बाद भाऊसाहेब का पूरा परिवार परेशानियों का सामना कर रहा है और घर का खर्च चलाना मुश्किल हो रहा है.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here