पेपर लीक के बाद एमबीबीएस सर्जरी पेपर टू की परीक्षा रद्द, अब 13 जून को होगी

जानकारी

आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय में शनिवार को परीक्षा बोर्ड की बैठक हुई। अध्यक्षता कुलपति प्रो. एस पी सिंह ने की। इसमें बीएन कॉलेज में शुक्रवार को हुई सर्जरी पेपर टू की परीक्षा को रद्द करने के साथ-साथ 13 जून को पुन: परीक्षा आयोजित कराने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा पूरे प्रकरण की जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच कमेटी बनायी गई है। इसमें मेडिकल, मैनेजमेंट और एजुकेशन के डीन को रखा गया है। इन्हें दो सप्ताह के अंदर पूरे मामले की जांच करने का आदेश दिया गया है। साथ ही भविष्य में ऐसी घटना न हो, इसपर तीन सदस्यीय टीम से राय मांगी गई है।

कुलपति ने प्रो. सिंह ने बताया कि इस मामले में अगर विश्वविद्यालय का कोई भी व्यक्ति शामिल होगा तो उसपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। विश्वविद्यालय अपने स्तर से सही तरीके से जांच करेगी। इसमें मुख्य भूमिका पुलिस की है।  एनकेयू के परीक्षा नियंत्रक राजीव रंजन ने बताया कि पूर्व की परीक्षाएं पहले से तय तिथि के अनुसार होगी। इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। बीएन कॉलेज के परीक्षा केन्द्र पर लगभग साढ़े छह सौ छात्र अलग-अलग कॉलेज के परीक्षा दें रहे हैं।

पेपर बैंक से या विश्वविद्यालय से लीक हुआ, संशय बरकरार
एमबीबीएस की परीक्षा का पेपर बैंक से या विश्वविद्यालय से लीक हुआ, यह संशय बरकरार है। बिना विश्वविद्यालय के कर्मी के मिले परीक्षा से पहले पेपर लीक होना आसान कार्य नहीं है। वहीं एक अनुमान लगाया जा रहा है कि बैंक प्रश्न पत्र को भेजा जाता है। इसके बाद वहीं से पेपर निकलता है। परीक्षा 11 बजे से थी। जबकि जिस संदिग्ध को 10 बजकर 51 मिनट पर पकड़ा गया उसके मोबाइल पर प्रश्न पत्र का स्क्रीन शॉट पहले से था।

आरोपित व्यक्ति को भेजा गया जेल\

बीएन कॉलेज परीक्षा केन्द्र पर शुक्रवार को पकड़े गए व्यक्ति मुकेश कुमार को शनिवार को जेल भेज दिया गया। इसपर प्राथमिकी दर्ज करा दी गई है। पीरबहोर थाना प्रभारी ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते जांच शुरू कर दी गई है। पकड़ा गया आरोपित पिता-रामानंद राम, पता-चांदपुर, फतह, थाना-पातेपुर, जिला-वैशाली का रहने वाला है। वह बीएन कॉलेज परीक्षा केंद्र पर किसी परीक्षार्थी की मदद करने आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.