पांच तरह के कैंसर में दिखते हैं 6 एक जैसे लक्षण, ये महिलाएं रहें सतर्क

खबरें बिहार की जानकारी

लोग इन दिनों अपने बिजी शेड्यूल की वजह से खानपान और सेहत का कुछ खास ख्याल नहीं रख पाते हैं। काम के बढ़ते प्रेशर और अपनी जीवनशैली में गलत खानपान की आदत के चलते आजकल लोग कई गंभीर समस्याओं का शिकार होते जा रहे हैं। इसके अलावा बढ़ते प्रदूषण और खाने में चीजों में मिलावट की वजह से भी लोग बीमारियों की चपेट में आने लगे हैं। खराब जीवनशैली की वजह से इन दिनों कई बीमारियां आम हो चुकी हैं। इन्हीं में से एक कैंसर के मामले भी इन दिनों काफी बढ़ते जा रहे हैं। कैंसर एक क्रोनिक बीमारी है, जो किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। शरीर के एक अंग से शुरू होने वाली यह बीमारी सही उपचार न मिलने पर शरीर के दूसरे हिस्से तक फैल जाती है, जिससे यह कई बार जानलेवा तक साबित होती है।

महिलाओं के लिए खतरनाक गायनेकोलॉजिकल कैंसर

इस जानलेवा बीमारी के कई प्रकार होते हैं। अलग-अलग शरीर के हिस्सों में होने की वजह से इन्हें उसी नाम से जाना जाता है। इसके अलावा महिलाओं और पुरुषों में होने वाले कुछ जेंडर स्पेसिफिक कैंसर भी होते हैं। इन्हीं में से एक गायनेकोलॉजिकल कैंसर महिलाओं में होने वाले कैंसर का एक प्रकार है। बीते कुछ समय से कई महिलाएं इस जानलेवा बीमारी का शिकार हो रही हैं। ऐसे में इसे लेकर जागरूकता और जानकारी होना जरूरी है। गायनेकोलॉजिकल कैंसर के तहत पांच तरह के कैंसर होते हैं, जो एक-दूसरे से काफी अलग होते हैं, लेकिन इनके कुछ समान लक्षण भी होते हैं। समय से इनकी पहचान होने पर आप न सिर्फ इसका इलाज करा सकते हैं, बल्कि इससे बच भी सकते हैं।

गायनेकोलॉजिकल कैंसर ​क्या है

सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेन्शन (CDC) के मुताबिक महिला के प्रजनन अंगों में होने वाले कैंसर को गायनेकोलॉजिकल कैंसर कहा जाता है। यह कैंसर महिलाओं के पेल्विस के अंदर अलग-अलग जगहों पर शुरू होता है। गायनेकोलॉजिकल कैंसर के पांच प्रकार होते हैं, जिससे महिलाएं प्रभावित होती हैं। गायनेकोलॉजिकल कैंसर के इन पांच प्रकारों में यूटेराइन कैंसर, वजाइनल कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ओवेरियन कैंसर, वल्वर कैंसर शामिल हैं। पांच तरह के यह अलग-अलग कैंसर यूं तो एक-दूसरे से काफी अलग होते हैं, लेकिन इनके कुछ ऐसे लक्षण भी होते हैं, जो सभी प्रकार में एक जैसे ही होते हैं। जानते हैं इन पांच प्रकार के कैंसर के एक जैसे लक्षणों के बारे में-

  • ब्लोटिंग
  • कमर दर्द
  • पेल्विक में दर्द
  • पेशाब रोकने में दिक्कत
  • योनि में खुजली, जलन, दर्द
  • वेजाइनल ब्लीडिंग डिस्चार्ज

ये लोग रहे सावधान

गायनेकोलॉजिकल कैंसर जैसी गंभीर बीमारी किसी भी महिला को हो सकती है। लेकिन कैंसर की फैमिली हिस्ट्री, मोटापा, 55 से ज्यादा उम्र,एचपीवी इंफेक्शन और धूम्रपान करने वाली महिलाओं में इसका जोखिम ज्यादा होता है। ऐसे में यह बेहद जरूरी है कि आप इनके लक्षणों को लेकर सावधान रहें और अगर ऐसा कोई लक्षण नजर आता है, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। कैंसर एक गंभीर बीमारी है, जिसे सही समय से उपचार करने से खत्म किया जा सकता है। इसके अलावा अगर आप इससे खुद को बचाना चाहती हैं, तो आप एचपीवी वैक्सीन ले सकती हैं। यह टीका 11 से 12 वर्ष की आयु के बाद कोई भी लड़की लगा सकती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.