पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में प्रदर्शनकारियों के साथ एकजुटता प्रकट करने के लिए बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को बुधवार को ‘‘बहादुर व्यक्ति’ बताया लेकिन जल्द ही अपना ट्वीट डिलीट कर दिया.

मेजर जनरल आसिफ गफूर ने अपने निजी ट्विटर अकाउंट से पादुकोण की तारीफ की लेकिन थोड़े समय बाद ही उन्होंने अपना ट्वीट अज्ञात कारणों से डिलीट कर दिया.

उन्होंने अब डिलीट किए जा चुके ट्वीट में कहा, ‘‘ नौजवानों और सच के साथ खड़े होने के लिए दीपिका पादुकोण की तारीफ की जानी चाहिए. आपने मुश्किल वक्त में साबित किया है कि आप एक बहादुर व्यक्ति हैं. आपने इज़्ज़त हासिल की है. इंसानियत सब चीज़ों से ऊपर है.’

दरअसल, दीपिका हमले का शिकार हुए छात्रों के साथ एकजुटता प्रकट करने के लिये मंगलवार शाम अचानक जेएनयू पहुंच गई थी जहां एक सभा में उनके छात्रसंघ अध्यक्ष आईशी घोष के साथ खामोश खड़े रहने को फिल्म जगत और उससे बाहर लोगों की प्रशंसा मिली. वहीं दूसरी और एक वर्ग ने शुक्रवार को रिलीज हो रही उनकी फिल्म छपाक के बहिष्कार का आह्वान किया.  ट्विटर पर हैशटैग ‘बॉयकॉट छपाक’ के जवाब में हैशटैग ‘आई सपोर्ट दीपिका’ और ‘छपाक देखो तपाक से’ ट्रेंड करने लगा.

Sources:-Prabhat Khabar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here