पाकिस्‍तान में आजादी का जश्‍न, अटारी-वाघा बॉर्डर पर मिठाइयों का आदान-प्रदान

जानकारी

पाकिस्‍तान में आजादी का जश्‍न मनाया जा रहा है। इस अवसर पर अटारी-वाघा बॉर्डर पर दोनों देशों के सुरक्षा बलों के बीच मिठाइयों का आदान-प्रदान भी हुआ।


पाकिस्‍तान आज 72वां स्‍वतंत्रता दिवस मना रहा है। यह स्‍वतंत्रता दिवस पाकिस्‍तान के लिए इस मायने में भी खास है कि कुछ ही दिनों बाद यहां इमरान खान के नेतृत्‍व में नई सरकार का गठन होना है, जिन्‍होंने अपने चुनावी अभियान के दौरान ‘नया पाकिस्‍तान’ का नारा दिया था। इमरान खान 18 अगस्‍त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं और नई सरकार के साथ लोगों की कुछ नई उम्‍मीदें भी हैं।

पाकिस्‍तान में स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर पाकिस्तानी रेंजर्स ने अटारी-वाघा सीमा पर भारतीय सुरक्षा बलों के साथ मिठाइयां भी बांटी। इससे पहले गणतंत्र दिवस पर दोनों देशों के सुरक्षा बलों के बीच सीमा पर मिठाइयों का आदान-प्रदान नहीं हुआ था।


दोनों देशों के बीच स्‍वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, ईद, दिवाली जैसे अवसरों पर मिठाइयों के आदान-प्रदान की परंपरा रही है, लेकिन विगत कुछ समय में दोनों देशों के बीच तनाव के कारण मिठाइयों का आदान-प्रदान नहीं हुआ।

अब मंगलवार को एक बार फिर इस परंपरा की शुरुआत हुई है, जिससे उम्‍मीद जताई जा रही है कि पाकिस्‍तान में नई सरकार के गठन से दोनों देशों के बीच रिश्‍तों में एक नई शुरुआत हो सकती है।

इस बीच, पाकिस्‍तान के नए प्रधानमंत्री बनने जा रहे इमरान खान ने स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर अवाम को बधाई दी है और उम्‍मीद जताई कि मुहम्‍मद अली जिन्‍ना और इकबाल के सपनों को साकार किया जा सकेगा। उन्‍होंने अपने बधाई संदेश में पाकिस्‍तान के सामने खड़े आर्थिक संकट का भी जिक्र किया और उम्‍मीद जताई कि देश इससे उबरने में कामयाब होगा।

उन्‍होंने दोनों नेताओं की लंदन में गोलमेज सम्‍मेलन की 1932 की एक तस्‍वीर भी शेयर की।


हालांकि इस क्रम में वह ‘भ्रष्‍टाचार’ को लेकर विरोधियों पर निशाना साधने से भी नहीं चूके और देश के समक्ष व्‍याप्‍त आर्थिक संकट के लिए भ्रष्‍टाचार को जिम्‍मेदार ठहराया
उन्‍होंने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ‘भ्रष्‍टाचार के कारण पैदा हुए गंभीर आर्थिक संकट के बावजूद हम चुनौतियों से निपटने में सक्षम होंगे और पाकिस्‍तान एक महान राष्‍ट्र बन सकेगा, जिसका सपना कैद और इकबाल ने देखा था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.