बैंक से लिए गए ऋण और अपने पैसे लगाकर इन्होंने बन्हेर की 15 कट्ठा जमीन में जैविक खाद का निर्माण शुरू किया। आज शीलू वर्मी कम्पोस्ट जाना-पहचाना नाम है। इनकी खाद खगड़िया, किशनगंज, भागलपुर और अररिया आदि जिलों में भेजी जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here