अपने पूरे परिवार के साथ सिर्फ 2500 में करें वैष्णो देवी की यात्रा

आस्था

वैष्णो देवी हिन्दुओं के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है, जो कि त्रिकुटा हिल्‍स में कटरा नामक जगह पर 1700 मी. की ऊंचाई पर स्थित है। माँ वैष्णो देवी के द्वार हमेशा ही भक्तों का जमावड़ा लगा रहता है, अगर आप भी इन छुट्टियों में देवी मां के दर्शन कर उनके दर पर शीश झुकाना चाहते हैं, तो आपको रेलवे की ओर से जारी किये गए कुछ खास पैकेज का फायदा उठाना चाहिए, जिससे आप महज 2500 रूपये में वैष्णों देवी की सम्पूर्ण यात्रा कर सकेंगे।

 

Related image
वैष्णो देवी की यात्रा

जी हां, आपने बिलकुल सही सुना! रेलगाड़ी के द्वारा वैष्णो देवी का 4 दिन और 3 रात के टूर का पैकेज महज 2500 रूपये में ही सुविधा दी जा रही है। सिर्फ इतना ही नहीं, इसके तहत आपको कन्फर्म टिकट आईआरसीटीसी के गेस्ट हाउस में रुकने और रहने की सुविधा और 2 दिन का ब्रेकफास्ट और साथ में यात्रा की पर्ची भी मिलेगी। आप पूरे परिवार यानी 2 व्यस्क और 1 बच्चे से साथ जा रहे हैं, तो यही पॅकेज आपको करीबन 1907 रूपये में मिलेगा। बता दें कि यह पॅकेज सिर्फ दिल्ली से ही मिल सकेगा। इंडियन रेलवे आपके लिए स्लीपर क्लास की सीट भी मुहैया कराएगी और यह सुविधा दिल्ली से रोजाना बेसिस पर उपलब्ध है। अगर आप अपनी टिकट बुक कराना चाहते हैं तो इसके लिए पहले आपको आईआरसीटी के वेबसाइट पर जाना होगा और फिर आप अपनी टिकेट आसानी से बुक कर सकते हैं।

Image result for vaishno devi

आइये जानते हैं वैष्णो देवी के यात्रा के बारे में और भी बेहतर तरीके से:-

वैष्णो देवी की यात्रा की शुरुआत

माता वैष्णोदेवी की यात्रा की शुरुआत जम्मू के कटरा से शुरू होती है- कटरा एक गाँव है जो जम्मू से 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। दर्शन के लिए भक्त सबसे पहले कटरा आते हैं, कटरा से एक नि:शुल्क यात्रा पर्ची मिलती है और माता के द्वार की चढाई यहीं से शुरु होती है। चढाई करने के लिए आपको पर्ची कटवाना बहुत ही आवश्यक होता है।

Related image

माता के द्वार के लिए कटरा से 14 किमी की चढ़ाई

कटरा से माता के भवन तक यह चढाई 14 किलोमीटर की होती है। यह चढ़ाई 14 किलोमीटर की लगभग खड़ी चढाई होती है। यहाँ आने वाले दर्शनार्थी रात्रि को भी चढाई करते रहते हैं। पर्ची लेने के लगभग तीन घंटे बाद, एक बाणगंगा नामक चेक पॉइंट पर पर्ची को शो करके उसका दाखिला करवाना पड़ता है।

Related image

छ: घंटे बाद ही रद्द हो जाती है पर्ची

अगर आपने एक बार पर्ची ले ली तो, इसके साथ ही आपको उस पर्ची का दाखिला छः घंटे के अंदर ही करवाना आवश्यक होता है, नहीं तो उस पर्ची की कोई वैल्यू नहीं रहती और वो पर्ची रद्द हो जाती है। चढ़ाई की पूरी यात्रा में जगह-जगह पर खानें व चाय, कॉफी इत्यादि की व्यवस्था होती है, जिस दर्शनार्थी को भूख या प्यास लगी तो वो रास्ते में अपनी मर्ज़ी अनुसार चीजें ले सकते हैं। रास्ते में कई जगहों पर क्लॉक रूम हैं, जहाँ पर दर्शनार्थी निर्धारित शुल्क पर अपना सामान रख सकते हैं।

Image result for registration office katra vaishno devi

हेलीकाप्टर सुविधा भी उपलब्ध

कटरा से भेरुनाथ मंदिर के कुछ किलोमीटर की दूरी पर ही सांझीछत तक हेलीकॉप्टर की सुविधा भी उपलब्ध है। जिसका किराया लगभग 1000 रुपये-7000 रुपये तक होता है। अर्धकावांरी से माता के भवन के लिए बैटरी कार की सुविधा भी उपलब्ध करायी जाती है। माता के मंदिर से तीन किलोमीटर दूर भैरोनाथ का मंदिर है। यह तीन किलोमीटर भी चढ़ाई पर है। यहाँ भी जाने के लिए घोड़े-पालकी, पिट्ठू इत्यादि चीजें निर्धारित शुल्क पर तैयार मिलते हैं।

Image result for हेलीकाप्टर सुविधा भी उपलब्ध katra vaishno devi

Leave a Reply

Your email address will not be published.