Patna: वसंत पंचमी 16 को, मां सरस्वती की मूर्ति का निर्माण अंतिम दौर में : बसंत पंचमी की नजदीक आते ही विद्या की देवी मां सरस्वती को पूजने की तैयारी तेज हो गई है। आगामी 16 फरवरी को बसंत पंचमी के पहले मां सरस्वती की प्रतिमा तैयार करने का काम तेज हो चुका है। अशोक राजपथ के मूर्तिकार हों या फिर दीघा, राजीव नगर, कुर्जी के कारीगर सभी के यहां मूर्ति निर्माण का दौर अंतिम चरण में हैं।

राजीवनगर के मूर्तिकार सन्नी कुमार का कहना है कि मूर्ति बनाने का कार्य पूरा हो चुका है, बस फिनिशिंग टच दिया जा रहा है। सबसे पहले यहां से दूर-दराज एवं सीमावर्ती इलाकों में मूर्तियां जाती हैं। इन इलाकों में मां सरस्वती की प्रतिमा पहले भेजनी होती है। कलाकार नूतन कुमारी, दीपक पंडित, शशांत ने बताया कि दुर्गा या काली पूजा की तरह भले ही बड़ी मूर्तियों का निर्माण नहीं होता है लेकिन छोटी-छोटी मूर्तियों का निर्माण काफी होता है।

लगभग हर घर, स्कूल, कार्यालय या संस्थान में मूर्तियों की जरूरत पड़ती है। इधर, बाजार में भी सरस्वती पूजा को लेकर दुकानों में पूजन एवं अन्य सामग्री सजने लगी है। सरस्वती पूजा लाल पाड़ की साड़ी की विशेष मांग है। इसको देखते हुए साड़ी, कुर्ता धोती का नया कलेक्शन मंगाए जा रहे है। इसी तरह पंडाल व घर में पूजा स्थल की साज-सज्जा के लिए भी दुकानों में सामान मिलने लगा है।

Source: Daily Bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here