देश में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन होने के कारण देहारी मजदूर सबसे ज्यादा प्रभावित है| वे शहरों में बेरोजगार होकर फस गये हैं| उनको रहने-खाने का भी दिक्कत हो रहा है, यही कारण है कि वे पैदल ही घर निकलने को मजबूर है|इन देहारी मजदूरों में सबसे ज्यादा संख्या बिहार-यूपी के मजदूरों की है|  इस संकट के घड़ी में इन बेसहारे लोगों के लिए देश की एक बड़ी एयरलाइन्स कपनी खुद से आगे आई है|

स्पाइसजेट ने कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन (सार्वजनिक पाबंदी) के दौरान दिल्ली और मुंबई में काम करने वाले प्रवासियों को विशेषतौर पर बिहार से संबंध रखने वाले श्रमिकों को पटना पहुंचाने में मदद करने की पेशकश की है|

स्पाइसजेट के सीएमडी अजय सिंह ने शुक्रवार को बताया, “हमने सरकार के सामने लॉकडाउन के दौरान अपनी सेवाओं की पेशकश की है। हमारी एयरलाइन दिल्ली और मुंबई से पटना के लिए कुछ उड़ानों को संचालित करने के लिए तैयार है, ताकि प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचे के लिए कोई कष्ट न हो, विशेष रूप से बिहार के लोगों के लिए।”

इंडिगो के बाद अब गोएयर ने भी मदद की पेशकश की है

गोएयर ने एक बयान जारी करके कहा, ‘कंपनी ने नागरिक विमानन मंत्रालय और डीजीसीए से संपर्क किया है और देश में पूर्ण लॉकडाउन के मद्देनजर अपनी सेवाएं देने की पेशकश की है।’ भारत में 24 मार्च की आधी रात से घरेलू यात्री विमानों के उड़ान पर रोक है। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को 21 मार्च को रात 1.30 बजे से रोक दिया गया था।

ये तो सरकार को तय करना है कि इन कंपनियों के प्रोपोसल पर क्या करना है| मगर इस मुश्किल के घड़ी में इन कंपनियों द्वारा मदद का पेशकश करना काबिले तारीफ़ है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here