अब पटना से पहुंचे काठमांडू ‘मिलेंगे वहां शंभू’… सीधी दौड़ेंगी ट्रेनें

खबरें बिहार की

पटना: नेपाल के काठमांडू में विराजमान बाबा पशुपतिनाथ के दर्शन अब बिहारवासी खासकर पटनावासियों के लिए खासा आसान हो जाएगा। सीधे पटना से ट्रेन के जरिए काठमांडू पहुंच शंभू के दर्शन मिलेंगे। जी हां बिहार से नेपाल जाने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। राजधानी पटना को नेपाल की राजधानी काठमांडू से सीधे रेल सेवा से जोड़ने की कवायद शुरू कर दी गई है।

नेपाल सरकार के अनुरोध पर भारतीय रेलवे की ओर से रक्सौल से काठमांडू के बीच नई रेल लाइन के निर्माण का प्रस्ताव दिया गया था। नेपाल सरकार से हरी झंडी मिलते ही भारतीय रेल की ओर से नई रेल लाइन बिछाने के लिए सर्वे का काम शुरू कर दिया गया है। सर्वे रिपोर्ट मिलते ही दोनों रूटों पर नई रेल लाइन का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।


इस संबंध में बातचीत करते हुए पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक ललित चन्द्र त्रिवेदी ने बताया कि पीएम नरेन्द्र मोदी एवं रेलमंत्री पीयूष गोयल ने नेपाल के काठमांडू तक रेल लाइन बिछाने में विशेष दिलचस्पी दिखाई। रक्सौल से काठमांडू तक नई रेल लाइन के निर्माण से पर्यटकों को काठमांडू तक जाना आसान हो जाएगा। बांगलादेश में नई रेल लाइन के निर्माण एवं सवारी गाड़ियों के परिचालन के बाद भारतीय रेलवे की ओर से यह बड़ा निर्णय है।

रेलवे लाइन बिछाने के बाद भारतीय रेल नेपाल सरकार के अनुरोध पर ही ट्रेनों का परिचालन काठमांडू तक करेगी। इसके साथ ही जयनगर से नेपाल के दूसरे प्रमुख शहर व सीता की जन्मभूमि जनकपुर तक ट्रेनों के परिचालन की योजना को भारतीय रेल मूर्त रूप देने जा रही है। जयनगर-जनकपुर (बद्रीबाद) रेल लाइन निर्माण की सारी बाधाएं दूर कर ली गई हैं।

दीघा रेल पुल बन जाने के बाद पटना जंक्शन अथवा पाटलिपुत्र से रक्सौल तक ट्रेन से जाना काफी आसान हो गया है। पाटलिपुत्र से रक्सौल तक इंटरसिटी एक्सप्रेस भी चल रही है। सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो अगले कुछ वर्षो में पटना से काठमांडू तक सीधी ट्रेन सेवा शुरू हो जाएगी। इससे दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंध भी प्रगाढ़ होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.