अब पटना में भी मेट्रो की तर्ज पर रैपिडो बाइक टैक्सी सर्विस, ऐसे कर सकते हैं बुकिंग

खबरें बिहार की

पटना: कार टैक्सी के बाद अब पटना के लोग भी बाइक टैक्सी का मजा ले सकेंगे. दिल्ली और मुंबई जैसे महानगरों की तर्ज पर पटना में भी रैपिडो बाइक टैक्सी सर्विस शुरू की गयी है. बेंगलुरु बेस्ड कंपनी रैपिडो ने पटना में पिछले हफ्ते ही बाइक टैक्सी की सर्विस शुरू की है. जाम की समस्या के कारण रोजाना अपने ऑफिस में देरी से पहुंचने वाले लोगों के लिए यह अच्छी खबर है. अब उनकी गाड़ियां या टैक्सियां जाम में नहीं फंसेगी क्योंकि दैनिक यात्रियों के लिए शहर में विभिन्न स्थानों पर रैपिडो बाइक टैक्सी हर समय उपलब्ध रहेगी.

इस बारे में कंपनी के डिप्टी मैनेजर और बिहार के बाढ़ अनुमंडल के रहने वाले अंकित गुप्ता बताते हैं कि मेट्रो सिटीज में तो बाइक टैक्सी का खूब चलन है लेकिन अब लोगों लकी जरुरत को देखते हुए पटना में भी यह सर्विस हमलोगों ने शुरू की है. उनके अनुसार फिलहाल हमलोगों के पास करीब 15 बाइक्स हैं जिससे हम राजधानी पटना में लोगों को बाइक टैक्सी की सुविधा दे रहे हैं.

कहां-कहां मिलेगी सर्विस

अंकित बताते हैं अभी लोगों में जानकारी की कमी की वजह से हमे दिन में सिर्फ 8-10 बुकिंग ही आती है. लेकिन, उम्मीद है हमे जल्द ही और बेहतर रिस्पांस मिलेगा. अभी फिलहाल हम पटना के बोरिंग रोड, कंकड़बाग, फ्रेजर रोड, राजेंद्र नगर, हनुमान नगर, राजा बाजार, पाटलिपुत्र कॉलोनी आदि इलाकों में अपनी सर्विस दे हैं. हमारी कोशिश है कि हम पटना सिटी से लेकर दानापुर तक यह सर्विस मुहैया कराएं. ट्रैफिक जाम से हर दिन परेशान होने वाले लोगों को इस सुविधा से खास तौर पर लाभ मिलेगा.

कैसे करेंगे बुक

अंकित ने बताया कि इस सर्विस का लाभ उठाने के लिए आप सबसे पहले प्ले स्टोर में जाकर रैपिडो (Rapido) एप डाउनलोड करें. उसके बाद उस वहां नाम और नंबर देकर खुद को रजिस्टर्ड कराएं. इसके बाद आप राइड बुक कर सकते हैं. राइड बुक करने के बाद ओला या उबेर की तरह ही आपको बाइक के कैप्टन यानि ड्राइवर का मोबाइल नंबर और बाइक का नंबर मिलेगा. आप चाहे तो खुद कैप्टन को फ़ोन करके के अपने पास बुलाएं या कैप्टन भी आपके रजिस्टर्ड नंबर पर आपको कॉल करेगा. आप उसके बाद अपने लोकेशन तक जाएं और फिर कैप्टन को राइड का किराया दे दें. आप चाहे तो ऑनलाइन पेमेंट भी कर सकते हैं.

आप भी बन सकते हैं कैप्टन

अंकित बताते हैं कि अगर कोई चाहे की वे ओला की तर्ज पर अपनी बाइक को हमारे एप से जोड़ना चाहता है हमारा कैप्टन बनना चाहता है तो इसके लिए सबसे पहले तो व्यक्ति के पास अपनी बाइक, ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी का पेपर होना चाहिए. इसके बाद कुछ और जरुरी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद कोई भी व्यक्ति हमारी इस सर्विस के तहत कैप्टन बन सकता है.

फुल और पार्ट टाइम जॉब भी

कैप्टन बनने के बाद सुबह 8 से लेकर शाम 8 बजे तक राइडर्स को कस्टमर की बुकिंग के लिए तैयार रहना होता है. इसके लिए उन्हें इंसेंटिव भी मिलता है. राइडर्स के पास 150 सीसी से कम की बाइक हो तो हम उसे पहले चुनते हैं. अंकित का कहना है कि इस सर्विस के माध्यम से यहां लोगों के फुल और पार्ट टाइम जॉब भी उपलब्ध हो जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.