अभी-अभी : SC-ST पर नहीं थमा सवर्णों का गुस्सा, पप्पू यादव के बाद श्याम रजक पर हुआ हमला, गाड़ी को तोड़ा

खबरें बिहार की

पटना: अभी अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि एससी एसटी एक्ट के विरोध में आहूत बिहार बंद के दौरान सवर्ण जाति के लोगों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है। पप्पू यादव के बाद जदयू विधायक और पूर्व मंत्री श्याम रजक को निशाना बनाते हुए उनपर जानलेवा हमला किया गया है। उनके वाहन के शीशे तोड़ दिए गए हैं।

ताजा अपडेट के दौरान श्याम रजक ने आरोप लगाया है कि बेगूसराय में एक कार्यक्रम से लौटने के दौरान उनके क़ाफ़िले पर भारत बंद समर्थकों ने हमला किया। इस हमले में श्याम रज़क की गाड़ी को बंद समर्थकों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। गाली-गलौज करने के साथ-साथ उन पर ईंट-पत्थर से भी प्रहार किया गया। इस दौरान गाड़ी का शीशा टूटने से पूर्व मंत्री को चोट लगी और उनका सिक्यूरिटी गार्ड भी घायल हो गया। घटना बेगूसराय जिले के लाखो थाना क्षेत्र के इनयार की है।

बंद समर्थकों ने किया एमपी पप्पू यादव पर हमला, रोते-रोते हुआ बुरा हाल : अभी अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि आरक्षण विरोधी भारत बंद के दौरान जाप नेता और एमपी पप्पू यादव के काफिले पर बंद समर्थकों ने हमला किया है। एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में पप्पू यादव ने रोते हुए कहा कि भारत बंद समर्थकों ने मुझपर जान लेवा हमला किया है। ताजा अपडेट के अनुसार एमपी पप्पू यादव मधुबनी एक कार्यक्रम के दौरान जा रहे थे।

RESERVATION पर श्याम रजक के बिगड़े बोल, कहा-औचित्यहीन हैं गरीब सवर्णों को आरक्षण देना : बताते चले कि कुछ दिन पहले श्याम रजक ने कहा था कि गरीब सवर्णों के लिए हो रही आरक्षण की मांग को औचित्यहीन करार दिया है। देश के उच्च सरकारी पदों पर दलित प्रतिनिधित्व काफी कम है। आज सवर्ण गरीब के आरक्षण की वकालत की जा रही है, लेकिन संविधान के संदर्भ में यह औचित्यहीन मांग है। केंद्र सरकार द्वारा दलित-पिछड़ों को 49.5 प्रतिशत आरक्षण प्राप्त है। इस लिहाज से 85 प्रतिशत आबादी को 49.5 प्रतिशत की सीमा में बांध दिया गया है। वहीं 15 प्रतिशत आबादी को 50.5 प्रतिशत नौकरियां दे दी गई।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.