नीतीश मेरे चाचा थे हैं और रहेंगे,उन्होंने धोखा दिखा मुझे बहुत दुःख- तेज

मनोरंजन राजनीति

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा है कि नीतीश कुमार मेरे चाचा थे और रहेंगे, उन्होनें धोखा दिया है, मुझे इसका दु:ख हुआ है। नीतीश के इस्तीफे और सरकार बनाने के दावे के बीच तेजस्वी के साथ पांच आरजेडी नेता राज्यपाल से मिले। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार के राज्यपाल के पास संविधान बचाने का ऐतिहासिक मौका है। सरकार बनाने का न्योता नीतीश को देने और शपथ ग्रहण का समय सुबह दस बजे ही कर देने के विरोध में आरजेडी और कांग्रेस के विधायकों ने राजभवन तक मार्च किया। यह मार्च आरजेडी नेता तेजस्वी और तेजप्रताप के नेतृत्व में हुआ।। पूरे बिहार में आरजेडी आज विरोध प्रदर्शन कर रही है।

आरजेडी इस मसले पर व्यापक जन आंदोलन खड़ा करने की तैयारी कर रही है। आज बिहार के सभी जिलों मे जेडीयू विश्वासघात दिवस मनाते हुए प्रदर्शन करेगी और इस दौरान नीतीश कुमार का पुतला फूंका जाएगा।
इसके पहले तेजस्वी समर्थन में तमाम कार्यकर्ता और नेता भी रात दो बजे पटना की सड़कों पर उतर आए और वे विधायकों के साथ मार्च किया।
आरजेडी नेताओं का कहना है कि सबसे बड़ा विधायक दल उनके पास होने के बावजूद राज्यपाल ने उन्हें सरकार बनाने का न्योता नहीं दिया और बीजेपी-जेडीयू को बुला लिया।
आरजेडी नेता इस बात से भी काफी नाराज हैं कि राज्यपाल ने पहले उन्हें सुबह 11 बजे मिलने का समय दिया था, लेकिन नीतीश को सुबह 10 बजे ही शपथ ग्रहण के लिए आमंत्रित कर लिया है।
यह उनके साथ एक तरह का धोखा है। आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद ने इसे लोकतंत्र की हत्या और बिहार की राजनीति का काला अध्याय बताया।
उन्होंने कहा कि जेडीयू- बीजेपी ने साजिश के तहत 10 बजे ही शपथ ग्रहण कराने का इंतजाम किया है ताकि हम लोग कोर्ट की शरण में न जा सकें।
आरजेडी इसे एक बड़ा मसला बनाना चाहती है और इस पर व्यापक जनसमर्थन जुटाने की तैयारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *