नीतीश ने हालचाल के लिए लालू को किया फोन, तेजस्वी बोले – बहुत देर कर दी चाचा

राजनीति

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज मंगलवार को राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव से फोन पर बात की है. अभी मुंबई में इलाज करा रहे लालू प्रसाद को फोन कर नीतीश कुमार ने उनका हाल-समाचार जाना है. नीतीश कुमार के इस फोन कॉल की खबर मीडिया में आते ही हंगामा मचना स्वाभाविक था. इसके बाद पोलिटिकल कोरिडोर में हंगामा भी बढ़ गया है.

उधर नीतीश कुमार के इस फोन कॉल के बाद लालू प्रसाद के बेटे बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने अपना रिएक्शन दिया है. उन्होंने इसे काफी देरी से किया गया एक अनौपचारिक कॉल मात्र बताया है. तेजस्वी ने कहा है कि यह आश्चर्यचकित करने वाला है कि लालू प्रसाद के बीते चार महीने से खराब स्वास्थ्य रहने एक बावजूद नीतीश जी को आज यह बात ध्यान में आई है. तेजस्वी ने ट्वीट कर अपनी यह प्रतिक्रिया दी है.

इससे पहले आज मंगलवार को ही तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार के लिए महागठबंधन के दरवाजे बंद हो चुके हैं. राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे और पार्टी के अन्य नेताओं की मौजूदगी में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में तेजस्वी ने यह बात कही. उन्होंने शराबबंदी के मुद्दे पर नीतीश कुमार द्वारा संशोधन लाये जाने वाले बयान को लेकर भी सवाल उठाये. तेजस्वी ने कहा कि महागठबंधन की सरकार में उन्होंने शराबबंदी का फैसला लिया था और तब यह कहते थे कि इस कानून में किसी तरह का संशोधन नहीं किया जाएगा. आज ऐसी क्या जरूरत आ पड़ी कि वह लगातार संशोधन की बात कर रहे हैं?

नीतीश भी अपने सहयोगियों पर हैं हमलावर

बता दें कि बिहार सीएम और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार भी इन दिनों अपने ही सहयोगियों पर हमलावर हैं. सोमवार को ही पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह की जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि देश में वोट के किए जातीय और संप्रदायिक तनाव का माहौल बनाया जा रहा हैं. लेकिन उनका विश्वास है कि काम के आधार पर वोट मांगना चाहिए, इसलिए वो वोट की चिंता नहीं वोटर को चिंता करते हैं. नीतीश ने अपने भाषण में बार-बार इस बात का ज़िक्र किया कि समाज में प्रेम सद्भावना और सकरात्मक सोच की जगह एक टकराव और तनाव का माहौल को बढ़ाया जा रहा है. उन्होंने खासकर सोशल मीडिया के माध्यम से अपशब्दों के इस्तेमाल पर चिंता जाहिर की।

Source: live cities

Leave a Reply

Your email address will not be published.