नीतीश सरकार में दोबारा मंत्री बने संतोष सुमन, मिला अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण मंत्रालय

खबरें बिहार की जानकारी

नीतीश कुमार ने नई कैबिनेट का विस्तार हुआ है। इस दौरान 31 मंत्रियों को शपथ दिलाई गईं। वहीं मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा भी किया गया है। इस क्रम में हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (सेक्युलर) के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष कुमार सुमन को बिहार सरकार में अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण मंत्री बनाए गए हैं। संतोष कुमार सुमन का जन्म गया जिले के महकार गांव में 10 फरवरी साल 1975 को हुआ था।

संतोष कुमार ने अपनी पढ़ाई मगध विश्वविद्यालय से की जहां उन्होंने साल 2003 में राजनीति शास्त्र में पीएचडी की। हालांकि इससे पहले 2000 में उन्होंने यूजीसी नेट की परीक्षा पास की थी। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के बड़े बेटे संतोष कुमार सुमन को साल 2018 में बिहार विधान परिषद के सदस्य बनाए गए थे। इसके बाद 16 नवंबर साल 2020 में नीतीश कुमार की सरकार में मंत्री पद का शपथ ग्रहण किया था।

 

2020  में संतोष सुमन को लघु सिंचाई मंत्री के साथ ही अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण मंत्रालय का मंत्री बनाया गया था। संतोष सुमन अपने पिता जीतन राम मांझी के राजनीतिक जीवन की प्रेरण लेकर राजनीति में आने का फैसला लिया था। दोबारा मंत्री बनाए जाने पर संतोष सुमन के घर और रिश्तेदारों खुशी का माहौल है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.