नीतीश कुमार कब पद छोड़ने वाले हैं, कांग्रेस के वरीय नेता ने सीएम के सीक्रेट प्लान का किया पर्दाफाश

जानकारी राजनीति

बोचहां विधानसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव को लेकर इन दिनों गहमागहमी तेज है। चुनाव प्रचार को लेकर विभिन्न दलों के नेता यहां पहुंच रहे हैं। इस दौरान तरह-तरह के दावे और प्रतिदावे सुनने को मिल रहे हैं। इसी क्रम में मुजफ्फरपुर पहुंचे कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास ने बताया कि सीएम नीतीश कुमार एक सीक्रेट प्लान पर काम कर रहे हैं। उन्होंने संभावना प्रकट की कि बिहार विधानसभा उपचुनाव संपन्न होने के बाद सीएम इस पर अमल कर सकते हैं। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को बिहार में होने वाले संभावित बदलाव के लिए पूरी तरह से तैयार रहने का आह्वान किया है। इतना ही नहीं उन्होंने वीआइपी सुप्रीमो मुकेश सहनी और बीजेपी के बीच हुए विवाद के संदर्भ में भी अपनी बातों को विस्तार से रखा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से वर्तमान बिहार सरकार की विफलता को लेकर जनता के बीच जाने का आह्वान किया है।

रोहुआ में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार सिन्हा के आवास पर कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। इसकी अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष कृष्ण मुरारी सिंह ने व संचालन कौशल किशोर चौधरी ने किया। इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री सह कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव सह बिहार प्रभारी भक्त चरण दास ने दावा किया कि सीएम नीतीश कुमार की कहानी खत्म हो चुकी है। वे इस उपचुनाव तक के मेहमान रह गए हैं। सीक्रेट प्लान का पर्दाफाश करते हुए उन्होंने कहा कि इसके बाद नीतीश कुमार बिहार के सीएम का पद छोडऩे वाले हैं। उनकी व्यवस्था की जा चुकी है। आरोप लगाया कि भाजपा व जदयू की सरकार में कानून व्यवस्था ठप है। महंगाई व बेरोजगारी चरम पर है।

भक्त चरण ने वीआइपी सुप्रीमो मुकेश सहनी के प्रति सहानुभूति प्रकट की। कहा, उनको मंत्रिमंडल से निकालकर भाजपा ने अपमानित करने का काम किया है। इससे भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है। उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं से गिले-शिकवे दूर कर कांग्रेस उम्मीदवार तरुण चौधरी को जिताने की अपील की। नगर विधायक विजेंद्र चौधरी ने कहा कि लोकतंत्र खतरे में है। शराब के नाम पर पुलिस गरीबो को परेशान कर रही है। मौके पर जिलाध्यक्ष अरविंद कुमार मुकुल, हब्बीबुर्रहमान जिन्ना, सूरज दास, उमाशंकर सिंह, प्रेम कुमार सिन्हा, महेश पासवान, प्रत्याशी तरुण चौधरी, महेश्वर मिश्र, गोपाल झा, उमेश राम, कृष्ण मुरारी, नवल किशोर सिंह, जितेंद्र यादव थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.