नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, अब केवल उसी शादी में जाएंगे जिसके कार्ड पर लिखा होगा दहेज नहीं लिया

प्रेरणादायक

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को मोतिहारी से ‘समाज सुधार अभियान’ की शुरुआत की। मोतिहारी पहुंचने के बाद सीएम नीतीश ऐतिहासिक गांधी मैदान पहुंचे। नीतीश कुमार ने शराबबंदी, दहेज व बाल विवाह के खिलाफ बोतले-बोलते उन्होंने बड़ी घोषणा कर दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले देखते थे कि शादी के कार्ड पर लिखा रहता था कि हम इस शादी में दहेज नहीं ले रहे हैं। लेकिन अब लोग ये लिखते ही नहीं हैं। ये बात ठीक नहीं है।

 उन्होंने कहा कि मैं बता दे रहा हूं कि चाहे कोई भी कितना भी करीबी क्यों ना हो, जिस कार्ड पर अब ये नहीं लिखा होगा, मैं उस शादी में नहीं जाउंगा। आप भी इस बात का प्रण लीजिए। नीतीश ने शराबबंदी को लेकर पुरानी बातों पर ही जोर दिया और कहा कि शराबबंदी महिलाओं के कहने पर किया। इससे अब समाज की स्थिति काफी सुधर गई है। आप लोग भी साथ दें और प्रण लें कि शराबबंदी, दहेज और बाल विवाह के खिलाफ खड़ा रहेंगे।

 

नीतीश ने शराबबंदी कानून की चर्चा करते हुए कहा कि कितना भी अच्छा काम कर लीजिए, कोई ना कोई गड़बड़ी करने वाला रहेगा ही। जब हमने शराबबंदी कानून लागू की थी तो बहुत सारे लोग खुश थे। हमने तो पहले ग्रामीण क्षेत्रों में शराबबंदी की थी, लेकिन कितनी खुशी की बात है कि शहरी इलाकों में भी लोगों नें इसे स्वीकार किया। अब गड़बड़ी हो रही है लेकिन इसे लागू तो करना ही करना है, इसमें कोई दो राय नहीं है।

 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 24 दिसंबर को गोपालगंज जाएंगे। इस अभियान के तहत मुख्यमंत्री 12 जिलों में जाएंगे और वहीं से आस-पास के जिलों के विकास कार्यों की भी समीक्षा करेंगे। सभी जगहों पर मुख्यमंत्री जनसभा को भी संबोधित करेंगे। उनकी कुल पांच सभाएं होंगी। 

सीएम नीतीश 27 को सासाराम, 29 को मुजफ्फरपुर और 30 दिसंबर को समस्तीपुर जाएंगे। इसके बाद जनवरी में चार को गया जाएंगे। अंतिम सभा पटना में 15 जनवरी को होनी है। सीएम की जनसभाओं में जिलों के जीविका समूह की महिलाएं भाग लेंगी, जिसमें पूर्ण शराबबंदी अभियान, दहेज प्रथा उन्मूनल, बाल विवाह मुक्त अभियान से संबंधित राज्य सरकार की महत्वपूर्ण नीतियों और निर्णयों पर विचार रखे जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *