नीतीश कुमार का आह्वान: 26 नवंबर को शपथ लेगी बिहार की जनता, न शराब का सेवन करेंगे न बिकने देंगे

कही-सुनी खबरें बिहार की

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को एलान किया कि बिहार सरकार के कर्मचारी और राज्य के लोग 26 नवंबर को ‘प्रतिबंध दिवस’ के अवसर पर शपथ लेगी कि वह शराब का सेवन नहीं करेंगे। मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब की बिक्री पर प्रतिबंध सख्ती से लागू किया जा रहा है और सरकारी कर्मचारियों समेत इसमें शामिल किसी भी शख्स को न छोड़ने के निर्देश दिए गए हैं।

नीतीश ने कहा, ‘सभी कानून प्रवर्तन एजेंसियों को निर्देश दिया गया है कि शराब पर प्रतिबंध को पूरे प्रदेश में उचित तरीके से लागू किया जाए। इसका उल्लंघन करने वालों समेत सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।’ उन्होंने कहा कि 26 नवंबर को प्रतिबंध दिवस के मौके पर राज्य के सभी लोग ये शपथ लेंगे कि न तो वह खुद शराब का सेवन करेंगे और न ही इसकी बिक्री होने देंगे।

 

विपक्ष के फर्जी छापेमारी के आरोप पर कही ये बात 

उधर, विपक्षी राजद (राष्ट्रीय जनता दल) ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया है कि पुलिस प्रतिबंध के नाम पर शादियों में छापेमारी कर रही है और लोगों को प्रताड़ित कर रही है। इसे लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस को शिकायत मिली थी कि शादी में शराब पिलाई जा रही है। जब पुलिस को ऐसी जानकारी मिलेगी तो वह कार्रवाई करेगी। जो इसमें शामिल नहीं हैं उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है। 

पटना में बीते चंद दिनों में 60 से अधिक छापेमारी 

अधिकारियों के अनुसार पटना पुलिस ने पिछले कुछ दिनों में 60 से अधिक होटलों और मैरिज हॉल में छापेमारी की है। इस दौरान कुछ लोगों को शराब का सेवन करने और शराब उपलब्ध कराने के आरोपों में गिरफ्तार भी किया गया है। 

 

राबड़ी ने वीडियो ट्वीट कर लगाया सरकार पर आरोप 

वहीं, इसे लेकर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि पुलिस प्रतिबंध के नाम पर लोगों का उत्पीड़न कर रही है। उन्होंने ऐसी ही एक कथित छापेमारी का एक वीडियो भी ट्वीट किया। इस वीडियो में पुलिसकर्मी को बिना किसी महिला कर्मचारी के दूल्हन के कमरे में प्रवेश करते दिख रहे हैं। तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार और उनके मंत्री राज्य में शराब के कारोबार में लिप्त रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *