nitish-kumar-inaugurated-1462-crore-projects

नीतीश ने 1462.36 करोड़ की योजनाओं का किया उद्घाटन साथ ही मोदी से कर दिया यह डिमांड

खबरें बिहार की

नीतीश सरकार के सात निश्चय योजनाओं में शामिल हर घर बिजली योजना ससमय पूर्ण हो इसके लिए आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 1462.36 करोड़ की लागत से बनने वाली योजनाओं का शिलान्यास उद्घाटन और लोकार्पण किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऊर्जा के क्षेत्र में कार्य कर रहे अधिकारियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि हर गांव में बिजली पहुंचाने में अधिकारियों का अहम योगदान रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि बिहार में अब ऊर्जा क्षेत्र में थर्मल पावर स्टेशन लगाने की जरूरत नहीं है.

nitish-kumar-inaugurated-1462-crore-projects

उन्होंने केंद्र सरकार से मांग किया कि केंद्र से मिलने वाली बिजली का दर हर राज्य को अलग-अलग है जिसके कारण लागत अधिक होती है. उन्होंने केंद्र सरकार से सभी राज्यों के समान दर पर बिजली मुहैया कराने की मांग किया. उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में बिजली की अब कोई कमी नहीं है. बस उसके सप्लाई पर निरंतर ध्यान रखने की जरूरत है. उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में बिजली की स्थिति में सुधार का एक बहुत ही सरल उदाहरण है कि गांव में फ्रीज और टेलिविज़न चल रहा है.



राज्य की जनता से बिजली का दुरुपयोग न करने का अपील भी किया. उन्होंने राज्य के पूर्वोत्तर हिस्से में आए बाढ़ की समस्या पर भी चिंता व्यक्त किया और लगातार अधिकारियों से चर्चा किया जा रही है. इस मौके पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि साल 2017 तक हर गांव बिजली पहुंचाने की योजना पर विभाग पूरे जोर-शोर से काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि राज्य में 477 गांव बिजली से वंचित है जहां साल के अंत तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य विभाग द्वारा तय किया गया है.

उन्होंने कडरा और पीरपैंती में थर्मल पावर के जगह पर 200 मेगा वाट का सोलर पावर प्लांट लगाने का योजना बनाया गया है. साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार के LED बल्ब योजना पर भी कहा कि राज्य के उपभोक्ताओं को 12000 करोड़ का लाभ LED बल्ब के उपयोग से हुआ है. साथ ही विपक्ष पर चुटकी लेते हुए सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में बिजली की स्थिति को देखते हुए गांव-गांव बिजली न पहुंचने का स्थिति में राजनीतिक दल लालटेन को अपना चुनाव चिन्ह बना लिया.



इस समारोह को संबोधित करते हुए ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र यादव ने कहा बिहार भारत का पहला ऐसा राज्य है जहां करबिगहिया पावर ग्रिड को संचालित करने के लिए नियुक्त कर्मियों में सभी महिलाएं होंगी. इसके लिए महिला कर्मियों को ऊर्जा मंत्री ने ग्रिड के सफलतापूर्वक और अच्छे संचालन का एक संदेश भी दिया है, जो देश के लिए नजीर बन सकता है. इस समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव, जल संसाधन मंत्री लल्लन सिंह के अलावा कई अन्य विभागीय अधिकारी भी मौजूद थे.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे|

Leave a Reply

Your email address will not be published.