केंद्रीय मंत्रिपरिषद विस्तार पर बोले नीतीश कुमार- वही होगा जो प्रधानमंत्री मोदी चाहेंगे

राजनीति

केंद्रीय मंत्रिपरिषद विस्तार को लेकर सूत्रों से जानकारी मिल रही है की इस बार केंद्रीय कैबिनेट में मोदी सरकार जेडीयू को आनुपातिक भागीदारी दे सकती है और नीतीश की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) के कोटे से केंद्रीय सरकार में तीन मंत्री बनाए जाने की हैं.

वर्ष 2019 में मोदी के दूसरी बार सरकार बनाने पर बिहार से लोजपा केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हुई थी, जबकि जदयू ने भाजपा से मिला ऑफर ठुकरा दिया था. पर इस बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने खुद आगे आकर सरकार में शामिल होने की बात कही है इससे लगता है कि जेडीयू को तीन मंत्री पद देने पर भाजपा नेताओं ने हरी झंडी दे दी है.

इसी बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें किसी फार्मूले के बारे जानकारी नहीं है और इसके लिए जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह इसके लिए अधिकृत हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है कि कितनी सीटों पर बातचीत हो रही है. पिछली बार की बात खत्म हो गई और आज से कई महीना पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेवारी आरसीपी सिंह को सौंप दी थी. मंत्रिमंडल विस्तार पर कोई भी बातचीत पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सीपी सिंह ही करेंगे. जदयू मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगी ऐसी कोई बात नहीं है. मंत्रिमंडल विस्तार में पीएम नरेंद्र मोदी जो चाहेंगे वही होगा.

केंद्रीय मंत्रिपरिषद विस्तार की खबरों के बीच बड़ी खबर यह भी सामने आ रही है कि इस बार पीएम मोदी की सीएम नीतीश कुमार की पुरानी मांग मान सकते हैं. इस बार केंद्रीय कैबिनेट में मोदी सरकार जेडीयू को आनुपातिक भागीदारी दे सकती है और नीतीश की पार्टी जनता दल यूनाइटेड के कोटे से केंद्रीय सरकार में तीन मंत्री बनाए जा सकते हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इनमें दो कैबिनेट और एक राज्य मंत्री हो सकते हैं. जो खबरें सामने आ रही हैं उसके मुताबिक जेडीयू कोटे से आरसीपी सिंह और ललन सिंह कैबिनेट मंत्री हो सकते हैं और किसी एक को राज्य मंत्री बनाया जा सकता है. मिली जानकारी के अनुसार राज्य मंत्री के तौर पर जो नाम चल रहे हैं उनमें रामनाथ ठाकुर, चंदेश्वर चंद्रवंशी , दिलेश्वर कामत और संतोष कुशवाहा शामिल हैं. बताया जा रहा है कि इनमें से ही कोई एक राज्य मंत्री बनाए जा सकते हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.