नीतीश जी बोले मोकामा न होता तो शायद आज मैं बिहार का सीएम भी नहीं होता

खबरें बिहार की

पटना: बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शनिवार को खुले मंच से अपने मोकामा कनेक्शन की चर्चा की. नीतीश ने कहा कि मैंने पीएम को भी बताया कि आप जहां आये हैं वो मेरा संसदीय इलाका रहा है.

मैं मोकामा का आभारी हूं कि मुझे पांच बार यहां के लोगों ने लोकसभा भेजा. सीएम ने कहा कि मोकामा की बदौलत ही आज नीतीश को देश की राजनीति में पहचान मिल सकी है. मोकामा के लोगों को मेरे उपर जितना उपकार है उसे मैं जिंदगी भर नहीं भूल सकता.

नीतीश ने कहा कि जब बिहार में पीएम का प्रोग्राम बन रहा था तो इसके लिये मैंने इस क्षेत्र को इसीलिये सुझाया ताकि पीएम भी बिहार के इस इलाके की समस्या को देख सुन सकें. उन्होंने कहा कि टाल क्षेत्र की समस्याएं इसे क्षेत्र के क्षेत्रफल की तरह की विशाल है.

नीतीश ने कहा कि मैंने जेपी सेतु के समानांतर एक पुल बनाने की मांग की जिसे नितीन गडकरी जी ने वैचारिक सहमति भी दे दी है. नीतीश ने दिल्ली से गोरखपुर के रास्ते गाजीपुर तक आने वाले एक्सप्रेस हाईवे का जिक्र किया और कहा कि बक्सर में गंगा नदी पर बने पुल के समानांतर एक फोरलेन पुल बनाया जाये जिससे दिल्ली से गाजीपुर ही नहीं बल्कि बक्सर भी जुड़े.

Nitish with Modi mokama

उन्होंने मंच से बक्सर को सीधे बनारस से जोड़ने की मांग की. नीतीश ने कहा कि चुकि काशी पीएम का क्षेत्र है और बक्सर भी मिनी काशी के तौर पर जाना जाता है ऐसे में इन दोनों शहरों को सीधा जोड़ने की जरूरत है. नीतीश ने नितीन गडकरी की प्रशंसा करते हुए कहा कि इनके डिक्शनरी में नो शब्द नहीं है और वो हमेशा से बिहार के लोगों के लिये काम करते रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.