नीतीश कैबिनेट की बैठक में 33 एजेंडों पर लगी मुहर, श्रावणी मेले को मिला राजकीय दर्जा

खबरें बिहार की

पटना: नीतीश कैबिनेट की बैठक में बुधवार को 33 एजेंडों पर सहमति बनी। इस दौरान बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग के गठन के लिए 88 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई है। कैबिनेट ने भागलपुर जिला के सुल्तानगंज में लगने वाले श्रावणी मेले को राजकीय मेले का दर्जा देने का फैसला लिया है।

नीतीश कैबिनेट ने मुजफ्फरपुर जिले के मुसहरी प्रखंड में टाटा मेमोरियल कैंसर अस्पताल की स्थापना करने का फैसला लिया है। इसके लिए परमाणु ऊर्जा विभाग को 15 एकड़ भूमि स्थानांतरित किया जाएगा।



विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए जमीन होगी हस्तांतरितइसके अलावा मुंगेर जिला अंतर्गत अभियंत्रण महाविद्यालय की स्थापना के लिए सदर मुंगेर अंचल के शीतलपुर में 7.5 एकड़ जमीन हस्तांतरित करने का फैसला लिया गया है। यह जमीन कृषि विभाग से विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग बिहार को निशुल्क स्थानांतरित किया गया है।

133 कन्या अभियंता अगले 1 वर्ष के लिए नियोजित
कैबिनेट ने मध्याह्न भोजन योजना के अंतर्गत संविदा पर कार्यरत पदाधिकारी और कर्मियों के सेवाकाल में मृत्यु होने पर उनके आश्रितों को एक साथ चार लाख रुपये देने का फैसला लिया है। लघु जल संसाधन विभाग के अंतर्गत बिहार में संविदा के आधार पर कार्यरत 133 कन्या अभियंताओं को अगले एक वर्ष के लिए नियोजित करने का फैसला लिया गया है।



लापरवाही के आरोप में अधिकारी बर्खास्त
कैबिनेट में भागलपुर जिला अंतर्गत सुल्तानगंज श्रावणी मेला को राजकीय मेला का दर्जा देने का फैसला लिया है। कैबिनेट ने झंझारपुर के तत्कालिन बाढ़ नियंत्रण कार्यपालक अभियंता मिथिलेश कुमार सिंह को लापरवाही बरतने के आरोप में सेवा से बर्खास्त करने का फैसला लिया है।

Source: Etv Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.