इस बात में कोई शक नहीं है कि आईपीएल ने खेल प्रेमियों में एक नई उर्जा पैदा कर दी है। दनादन क्रिकेट में हर गेंद पर होने वाला रोमांच ही इस खेल को विशेष बनाता है। हजारों की संख्या में लोग अपनी टीम का सपोर्ट करने और अपने पसंदीदा खिलाड़ी के उत्साहवर्धन के लिए मैदान में पहुंचते हैं। अभी हाल ही में तमिलनाडु में चल रहे कावेरी जल विवाद के कारण जब चेन्नई में मैच नहीं हो सका तो वहां के प्रशंसकों ने ट्रेन बुक करके अपनी टीम चेन्नई को सपोर्ट करने पुणे पहुंचे थे।

शायद यही इस खेल की अपनी अलग विशेषता है, लेकिन अगले साल आईपीएल में शायद लोगों का यह प्यार देखने को न मिले क्योंकि यह आशंका है कि अगले साल आईपीएल का मुकाबला देश के बाहर हो सकता है। इसलिए यह खेल प्रेमियों के लिए बहुत बड़ा संकट है।

आखिर क्या है वजहः

बता दें कि अगले साल भारत में लोकसभा के चुनाव होने हैं, वहीं आईपीएल 12 भी अगले साल 29 मार्च से 19 मई के बीच खेला जाएगा। ऐसे में अगर चुनाव के साथ मैच की तिथियां आपस में टकराती नजर आएंगी तो इस आयोजन को बीसीसीआई देश के बाहर संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) मे इसका आयोजन करवा सकता है। गौरतलब हो कि चुनावों की वजह से 2009 में भी चुनाव के कारण आईपीएल का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में करवाया गया था, वहीं 2014 में भी आईपीएल के पहले चरण के मैच यूएई में खेले गए थे। बता दें कि यूएई में मैच शारजाह, दुबई औऱ अबुधाबी तीन जगहों पर मुख्यता खेले जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here