सोनपुर और डुमरिया में गंडक पर बनेगा महासेतु, केंद्र से प्रोजेक्ट को मिली हरी झंडी

खबरें बिहार की

एनएचएआई ने गंडक नदी पर दो नये पुल के निर्माण का रास्ता साफ कर दिया है। एक पुल सोनपुर और दूसरा डुमरिया में बनेगा। हाजीपुर-छपरा एक्सप्रेस-वे के बीच सोनपुर में गंडक नदी पर पुल बन जाने से पटना और हाजीपुर की तरफ से छपरा, सीवान, गोपालगंज ही नहीं उत्तर प्रदेश के बलिया, बनारस और गोरखपुर, अयोध्या जाने में सुविधा होगी।

वहीं इस्ट-वेस्ट कॉरिडोर यानी (एनएच-28) के गोपालगंज (देवापुर) पूर्वी चम्पारण (कोटवा) हाईवे के बीच डुमरिया में गंडक पर पुल बन जाने से असम और पूर्वोत्तर जाना आसान होगा। डेढ़-डेढ़ किलोमीटर लंबे इन दोनों पुलों का निर्माण कार्य कई सालों से लंबित था। अब एनएचएआई ने इसके निर्माण को हरी झंडी दे दी है और प्राथमिकता के तौर पर पूरा करने का निर्णय लिया है।

हाल ही में बिहार के दौरे पर आए एनएचएआई के चेयरमैन दीपक कुमार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच वार्ता में दोनों पुलों को शीघ्र पूरा करने का फैसला हुआ। इन पर 150-150 करोड़ रु. खर्च होंगे। इस पुल को बनाने के लिए वर्ष 2005 में ही एनएचएआई ने प्रोग्रेसिव एमवीआर ज्वायंट वेंचर के साथ एग्रीमेंट किया था।

एग्रीमेंट के मुताबिक एजेंसी को इसे नवम्बर 2008 में पूरा कर देना था। पुल ही नहीं गोपालगंज के देवापुर से चम्पारण के कोटवा तक 4 लेन हाइवे भी बनाना है। हाइवे के लिए जमीन संबंधी परेशानी और एनएचएआई की स्थानीय यूनिट की लालफीताशाही के कारण निर्माण बाधित हो गया।

अंतत: एजेंसी से काम छीना गया। अब एनएचएआई ने नये 2 लेन पुल के टेंडर करने के लिए प्रस्ताव भेजा है। हाईवे पुल पर 263 करोड़ खर्च होंगे। केवल इस पुल पर 100 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। इसकी लंबाई 1.5 किमी होगी। निर्माण फरवरी 2019 तक पूरा होने का अनुमान है।

इस पुल को बनाने के लिए वर्ष 2011 में एनएचएआई ने मधुकॉन प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के साथ एग्रीमेंट किया था। तब एजेंसी को जुलाई 2013 में पूरा कर देना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.