कश्मीर में शहीद हुए नायक पुरुषोत्तम का पार्थिव शरीर रविवार को गया स्थित उनके घर लागा गया। नायक पुरुषोत्तम का पार्थिव शरीर पहुंचते ही वहां कोहराम मच गया और भारी भीड़ इक्कठा हो गई। नायक पुरुषोत्तम का आज गया के विष्णुपद श्मशान घाट पर राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार। बता दें कि 13 जनवरी को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में बर्फीले तूफान की चपेट में आकर नायक पुरुषोत्तम शहीद हो गए थे।

45 राष्ट्रीय रायफल मच्छी सेक्टर कुपवाड़ा में नायक पद पर कार्यरत 37 वर्षीय पुरुषोत्तम कुमार उर्फ पिंटू ठाकुर सीतामढ़ी के परिहार प्रखंड अंतर्गत सुतिहारा वार्ड नंबर-12 के श्रीराम ठाकुर के बड़े बेटे थे। शहीद के भाई एनएसजी कमांडो मिंटू ठाकुर ने बताया था कि उनके भाई 13 जनवरी, 2003 को सेवा में गए थे। पुरुषोत्तम का परिवार गया में रहता है। पुरुषोत्तम की दो बेटियां और एक बेटा है जबकि उनकी पत्नी अर्चना कुमारी गृहिणी हैं।

जम्मू कश्मीर में हिमस्खलनों में छह सैनिकों समेत 12 लोगों की हुई थी मौत
बीते सोमवार को जम्मू कश्मीर में हिमस्खलन की चार घटनाओं में छह सैनिकों समेत 12 लोगों की मौत हुई थी। पुलिस और रक्षा सूत्रों ने यह जानकारी दी थी। रक्षा सूत्रों ने बताया था कि मंगलवार को नियंत्रण रेखा पर माछिल सेक्टर में सेना की एक चौकी हिमस्खलन की चपेट में आ गई जिसमें पांच सैनिक फंस गए। बचाव अभियान चलाया गया लेकिन किसी भी सैनिक को बचाया नहीं जा सका। गंदेरबल जिले में गगनगीर इलाके के सोमवार की रात एक गांव में एक अन्य हिमस्खलन हुआ जिसमें पांच नागरिकों की मौत हो गई जबकि चार अन्य को बचा लिया गया। बांदीपुरा के गुरेज में एक अन्य नागरिक की मौत हो गई। एक अन्य घटना कश्मीर के नौगाम सेक्टर में सोमवार की रात साढ़े आठ बजे हुई जिसमें एलओसी पर बीएसएफ की चौकी पर हिमस्खलन हुआ। इस घटना में बीएसएफ के एक जवान की मौत हो गई और छह अन्य को बचा लिया गया।

Sources:-Hindustan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here