किउल-जमुई रेलखंड पर यात्रियों की अटकी रही सांसें, नौ घंटे तक नक्सलियों ने किया तांडव

खबरें बिहार की

अभी-अभी किउल-जमुई रेलखंड पर लगभग सात घंटे बाद ट्रेनों का परिचालन चालू हो गया है। जमुई स्टेशन से मिथिला एक्सप्रेश रवाना हो गई। जानकारी के मुताबिक सुबह चार बजे नक्सलियों और पुलिस के बीच कई राउंड फायरिंग हुई। जिसके बाद नक्सलियों ने अगवा किए गए गेट मैन को छोड़ दिया।

आपको बात दें कि जमुई में नक्सलियों ने जितेन्द्र हॉल्ट के पास से गेटमैन को अगवा कर लिया था। नक्सली आठ से दस की संख्या में रहे नक्सलियों ने गेटमैन को अगवा कर करीब 2 किलोमीटर दूर ले गए और रेलवे के परिचालन को रोक देने के लिए कहा। उन्होंने गेटमैन को हथियार दिखकर कहा कि अगर वह रेलवे परिचालन नहीं रोकेगा तो वे उसे गोली मार देंगे।

गैटमैंन के अगवा होने के बाद से ही किउल-जमुई रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बाधित था। कई ट्रनों को इधर-उधर रोकना पड़ा। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर रेलवे और जिला पुलिस घटना स्थल पर पहुंची। इसके बाद पुलिस और नक्सलियों के बीच कई घंटों तक मुठभेड़ हुआ।





सुबह चार बजे भी दोनों तरफ से कई राउंड फायरिंग हुई। अंत में नक्सलियों ने गैटमैन को छोड़ दिया। जिसके बाद किउल-जमुई रेलखंड पर परिचालन शुरू हो गया। पुलिस अभी भी सर्च ऑपरेशन कर रही है और नक्सलियों को पकड़ने की कोशिश में है।




Leave a Reply

Your email address will not be published.