नरेंद्र मोदी बहरूपिया और ढोंगी हैं, जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह अपने बयान पर डटे, बोले- कुछ गलत नहीं कहा

खबरें बिहार की जानकारी

जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बहरूपिया और ढोंगी कहने पर बिहार में सियासी घमासान मचा है। हालांकि, ललन सिंह अपनी बात पर अब भी अडिग हैं। जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष का मानना है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा। पीएम मोदी बार-बार रूप बदल रहे हैं, इसलिए वे बहरूपिया हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री को डुप्लीकेट ओबीसी भी कहा था।  बीजेपी इस बयान पर भड़क गई है और ललन सिंह से माफी की मांग की।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने शनिवार को मीडिया से कहा कि हमने पीएम मोदी को लेकर कोई असंसदीय भाषा नहीं कही है। जो भी बार-बार रूप बदले उसे बहुरूपिया ही कहा जाता है। प्रधानमंत्री गलत तथ्यों से देश की जनता को भ्रमित करते रहते हैं, इसलिए मैंने उन्हें ढोंगी और बहुरूपिया कहा है।

क्या बोले थे ललन सिंह?

ललन सिंह ने शुक्रवार को पटना स्थित जेडीयू दफ्तर में आ्रयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को डुप्लीकेट ओबीसी बताया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी बहरूपिया  हैं। वे घूम-घूमकर खुद को पिछड़ा वर्ग का बताते हैं, जबकि वे असल में ओबीसी नहीं बल्कि डुप्लीकेट हैं। जब गुजरात के सीएम बने थे, तब मोदी ने अपनी जाति को ओबीसी में शामिल करा दिया। इस तरह वे डुप्लीकेट ओबीसी हैं। पीएम मोदी ने कहीं पर भी चाय नहीं बेची, बल्कि ढोंग कर रहे हैं।

ललन सिंह के बयान पर बीजेपी भड़की

भाजपा सांसद सुशील मोदी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी के लिए ‘डुप्लीकेट पिछड़ा’ जैसे शब्द बोलकर जदयू अध्यक्ष ललन सिंह ने अतिपिछड़ों का अपमान किया है। यह बयान पार्टी की पिछड़ा-विरोधी सामंती मानसिकता का प्रमाण है।  पिछड़े वर्ग से पहली बार कोई पीएम देश को मिला है। लेकिन महागठबंधन में बैठे सामंतवादियों और जेपी-लोहिया के फर्जी चेलों को यह बर्दाश्त नहीं हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.