मुंगेर और पूर्वी चंपारण में नए मेडिकल कालेज के लिए 1207 करोड़ मंजूर, इलाज की होगी समुचित व्‍यवस्‍था

खबरें बिहार की जानकारी

सरकार ने मुंगेर और पूर्वी चंपारण में एक-एक नए मेडिकल कालेज व अस्पताल का प्रस्ताव हाल ही में स्वीकृत किया है। इन दो नए संस्थान के निर्माण पर 1207 करोड़ रुपये की लागत आएगी। स्वास्थ्य विभाग ने इस कार्य के लिए राशि स्वीकृत कर दी है। साथ ही दो जिलाधिकारियों को मेडिकल कालेज अस्पताल के लिए जमीन चिह्नित करने के निर्देश भेजे गए हैं।

एमबीबीएस की 150 सीटों पर होगा नामांकन 

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार दोनों मेडिकल कालेज एमबीबीएस की (MBBS) 150 नामांकन क्षमता के साथ विकसित किए जाएंगे। जबकि यहां मरीजों के लिए कुल 630 बेड होंगे। एक मेडिकल कालेज अस्पताल के निर्माण पर 603.68 करोड़ रुपये की लागत आएगी। बिहार स्वास्थ्य सेवाएं आधारभूत संरचना निगम के प्रस्ताव पर मंथन के बाद स्कीम को प्रशासनिक स्वीकृति दे दी गई है।

सुसज्जित छात्रावासों का भी होगा निर्माण 

दोनों संस्थान ग्रामीण क्षेत्र में रहेंगे लिहाजा यहां छात्र-छात्राओं के लिए सभी सुविधाओं के साथ छात्रावास का निर्माण भी किया जाएगा। जबकि अस्पताल में सभी तरह के चिकित्सीय उपकरण, बेड और अन्य फर्नीचर, माडयूलर आपरेशन थियेटर, सभी बेड पर आक्सीजन पाइप लाइन जैसी सुविधाएं भी विकसि‍त की जाएंगी। स्वास्थ्य विभाग ने मुंगेर और पूर्वी चंपारण के जिलाधिकारियों को पत्र भेज संस्थान के लिए उपयुक्त जमीन चिह्नित करने और सरकार को अनुशंसा भेजने को कहा है।

दिल के छेद वाले बच्चों का महावीर वात्सल्य में होगा इलाज : मंगल पांडेय 

राज्य सरकार बाल हृदय योजना चला रही है। इस योजना के तहत दिल के छेद वाले बच्चों का सरकार मुफ्त में इलाज करा रही है। महावीर वात्सल्य अस्पताल में भी दिल के छेद वाले बच्चों का इलाज शुरू हुआ है। अब तक अहमदाबाद के साईं हास्पिटल बच्चे जा रहे हैं। ये बातें रविवार को महावीर वात्सल्य अस्पताल में महावीर-रोटरी आई हास्पिटल के उद्घाटन समारोह में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहीं। इस अवसर पर आए अतिथियों का स्वागत करते हुए महावीर मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि सरकार को नवजात शिशुओं की जटिल बीमारियों के इलाज के लिए अनुदान देना चाहिए। कई बच्चे काफी दिनों तक अस्पताल में वेंटीलेटर पर इलाजरत रहते हैं। इस दौरान काफी पैसा खर्च होता है। मौके पर रोटरी पाटलिपुत्रा के कई अधिकारियों ने भाग लिया। इस अवसर पर अवकाश प्राप्त न्यायमूर्ति पीके सिन्हा, महावीर

वात्सल्य अस्पताल के निदेशक डा.एसएन सिन्हा, अधीक्षक डा.लखीन्द्र प्रसाद, महावीर कैंसर संस्थान के अधीक्षक डा.एल.बी.सिंह, रोटेरियन संदीप कुमार एवं अनिल रोटेलिया सहित कई चिकित्सकों एवं लोगों ने भाग लिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.