बच्चों के प्यारे सुपरहीरो शक्तिमान, भोले-भाले गंगाधन और बड़ों के आदरणीय भीष्म पितामह के किरदारों में प्राण फूंकने वाले एक्टर मुकेश खन्ना आज भी अपने किरदारों के चलते लोगों के जहन में अपनी खास जगह बनाए हैं. लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि अपने करियर की शुरुआत में ही भीष्म पितामह का गंभीर किरदार निभाने वाले मुकेश को पहले बीआर चोपड़ा ने दुर्योधन का किरदार ऑफर किया था. मुकेश खन्ना आज अपना 61वां जन्मदिन मना रहे हैं. इस मौके पर जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें…

भारतीय टेलीविजन इतिहास के सबसे कामयाब कार्यक्रमों में शुमार ‘महाभारत’ में भीष्म पितामह की यादगार भूमिका निभाने वाले मुकेश खन्ना को पहले दुर्योधन के किरदार की पेशकश की गई थी, लेकिन उन्होंने इस रोल के लिए साफ तौर पर मना कर दिया था. यह बात कुछ साल पहले एक इंटरव्यू में खुद मुकेश खन्ना ने बताई थी. उनका कहना है कि वह नकारात्मक भूमिकाएं नहीं निभा सकते इसीलिए उन्होंने दुर्योधन की भूमिका नहीं की.

इस बारे में विस्तार से बताते हुए खन्ना ने कहा था, ‘मैंने महाभारत के लिए ऑडिशन दिया था. बी. आर. चोपड़ा ने मुझे दुर्योधन का किरदार निभाने के लिए कहा, लेकिन मैंने मना कर दिया. मैं नकारात्मक किरदार नहीं निभा सकता इसीलिए मैंने ऐसा किया. इसके बाद मुझे भीष्म पितामह की भूमिका दी गई.’

अभिनय की दुनिया में अपना अलग मुकाम हासिल कर चुके मुकेश खन्ना का जन्म 18 जून 1958 को हुआ था. हालांकि कई जगह इस 22 जुलाई को उनका जन्मदिन बताया जाता है. वर्ष 1984 में उन्होंने फिल्मी दुनिया में कदम रखा. इसके बाद कुछ फिल्मों में काम किया, लेकिन उम्मीद के मुताबिक कायामबी नहीं मिली. 1980 के दशक में बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ ने मुकेश की किस्मत बदल दी.

मुकेश के यादगार रोल इन सीरिलय और फिल्मों में देखे गए, जिनमें सौदागर (1991), यलगार (1992), तहलका (1992), शक्तिमान (1993), मुख्य खिलाड़ी तू अनाड़ी (1994), बरसात (1995), राजा (1995), वीर (1995), हिम्मत (1996), मैदान-ए-जंग (1995), जज मुजरिम (1997), हेरा फेरी (2000) और प्लान (2004) शामिल हैं.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here