बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की असमय मृत्यु से पूरा देश हैरान है। उन्होंने बांद्रा स्थित अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुशांत को महेंद्र सिंह धोनी को बायोपिक ‘एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी’ के लिए काफी तारीफ मिली थी। वह इस सुपर हिट फिल्म के सीक्वल के लिए भी काम करना चाहते थे, लेकिन उनकी मृत्यु ने सारी योजनाओं को ध्वस्त कर दिया है। धोनी के करीबी मित्र और फिल्म के सह निर्माता अरुण पांडे का कहना है कि अब इस फिल्म का सीक्वल सुशांत के बिना संभव नहीं है।

सुशांत सिंह राजपूत ने सुनहरे पर्दे पर महेंद्र सिंह धोनी के किरदार को जीवंत करने के लिए महीनों मेहनत की थी। 2016 में बनी यह फिल्म ब्लॉकबस्टर साबित हुई। इस फिल्म में रांची से निकले धोनी की विश्व कप विजय तक की यात्रा और संघर्ष को दिखाया गया है। सुशांत ने इसके लिए कड़ी मेहनत की थी। इस फिल्म के लिए पूर्व भारतीय विकेटकीपर किरण मोरे से सुशांत ने बल्लेबाजी, विकेटकीपिंग और हेलीकॉप्टर शॉट के गुर सीखे थे। 

सुशांत ने धोनी का मैनरिज्म सीखने के लिए भी कड़ी मेहनत की। वह माही से काफी सवाल पूछा करते थे, छोटी छोटी चीजें ही अंतर पैदा करती हैं। दोनों बिहार से थे तो उन दोनों के बीच तालमेल बनाने में मदद मिली।” अरुण पांडे ने कहा, ”मैं, माही और सुशांत दिल्ली में धोनी के एयर इंडिया कॉलोनी मकान में गए थे। माही ने याद किया कि वह कहां बैठते थे, खाते थे तो सुशांत भी किरदार को महसूस करने के लिए ऐसा करता था। घर में ऐसा भी स्थान था, जहां माही जमीन पर लेटता था तो सुशांत ने भी ऐसा ही किया।”

अरुण पांडे ने एबीपी न्यूज से बातचीत में कहा, ”सुशांत की मृत्यु के बाद फिल्म का सीक्वल बनाना संभव नहीं है। हम सुशांत के बिना इस फिल्म के सीक्वल के बारे में सोच भी नहीं सकते।” उन्होंने कहा कि हम इस फिल्म के सीक्वल पर सोच रहे थे, लेकिन अब इसका कोई मतलब नहीं रह जाता है। 

उन्होंने कहा कि उनकी मृत्यु की खबर ने धोनी को बुरी तरह तोड़ दिया है। धोनी फिलहाल अपने घर में ही परिवार के साथ हैं। अरुण पांडे ने कहा, ”माही इस त्रासद घटना से बेहद दुखी हुए। जो कुछ हुआ, उस पर हम विश्वास ही नहीं कर पा रहे हैं। मैं इस घटना पर अपना दुख भी प्रकट करने की स्थिति में नहीं हूं।”

उन्होंने कहा, ”मैंने कभी नहीं सोचा था कि वह ऐसा कुछ करेगा, वह इतना जिंदादिल था। लॉकडाउन से पहले हमने साथ में ही जिम सत्र में हिस्सा लिया था और हम नियमित रूप से संपर्क में थे। उसके जाने की खबर पर विश्वास नहीं हो रहा।”

Sources:-Hindustan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here