अहमदाबाद: गुजरात के राजकोट में रहने वाले साफिन हसन आगामी 23 दिसंबर को नया इतिहास रचने जा रहे हैं। वह देश के सबसे युवा आईपीएस अधिकारी होंगे। 22 साल के हसन राजकोट में हीरा तराशने वाले एक दंपती मुस्तफा व नसीम के बेटे हैं।

वह 23 दिसंबर को जामनगर के जिला पुलिस उपाधीक्षक का पदभार ग्रहण करेंगे। हसन के माता-पिता हीरा तराशने का काम करते हैं, लेकिन बेटे की पढ़ाई के लिए पैसे कम पड़ने पर मां नसीम बानो रेस्तरां और शादी समारोह में रोटी बेलने का काम करने लगी। मां की मेहनत रंग लाई और बेटा सफिन हसन अब आईपीएस बन गया। 

उत्तर गुजरात में बनासकांठा के पालनपुर तहसील के छोटे से गांव कणोदर में प्राथमिक शिक्षा के बाद हसन इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए सूरत चला गया। गुजरात पब्लिक सर्विस कमीशन की परीक्षा पास कर जिला रजिस्ट्रार बनने की उपलब्धि हासिल की। मगर हसन के मन में आईपीएस बनने की ललक थी। इसके बाद हसन ने 570वीं रैंक के साथ पिछले साल आईपीएस की परीक्षा पास की।

एक इंटरव्यू में हसन ने बताया, ‘मैं गुजरात पब्लिक सर्विस कमिशन की परीक्षा पास कर जिला रजिस्ट्रार तो बन गया, लेकिन मन में अभी भी आईएएस या आईपीएस बनने की इच्छा थी। इसके बाद पिछले साल 570वीं रैंक के साथ यह परीक्षा पास की।’ फिर वह गुजरात कैडर से आईपीएस की ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद चले गए। बता दें कि सोशल मीडिया पर हसन के 80 हजार फॉलोअर्स हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here