बिहार के 75 हजार से अधिक इंटर पास विद्यार्थियों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का सीधे मिलेगा लाभ

खबरें बिहार की

Patna: नीतीश सरकार के द्वारा बिहार के छात्रों के हित के लिए चलाई जा रही स्टूडेंट कार्ड योजना से जुड़ी खबर सामने आ रहा है की वैसे छात्र जो वित्तीय वर्ष 2021-22 में स्टूडेंट क्रेडिड कार्ड स्कीम के तहत राज्य में कुल इंटर पास बच्चों के अनुपात में प्रत्येक जिले में लोन देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. ऐसा पहली दफा हुआ है कि प्रत्येक जिले में कुल का जितने प्रतिशत बच्चे इंटर पास हुए हैं, उतने ही प्रतिशत बच्चों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड स्कीम के तहत लोन दिया जायेगा. लोन की संख्या तय करने के लिए निर्धारित सिद्धांत के आधार पर पूरे प्रदेश में 75 हजार इंटर पास विद्यार्थियों को लाेन देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

आधिकारिक जानकारों के मुताबिक स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड स्कीम के तहत मंगलवार को निर्धारित लक्ष्य 75 हजार एक सांकेतिक लक्ष्य है. अगर लोन लेने के लिए इससे भी अधिक विद्यार्थी सामने आते हैं, तो उन्हें भी इस योजना के तहत लोन दिलाने के प्रति संकल्प विभाग ने किया है. चूंकि कोविड संबंधी पाबंदियों के चलते अभी भी आवेदन बेहद कम आये हैं. विभाग जल्दी ही इस योजना के प्रचार प्रसार के लिए नये सिरे से कमर कसने जा रहा है. उम्मीद जतायी जा रही है कि दूसरे राज्यों में जैसे ही उच्च शिक्षण संस्थाओं पर पाबंदियों शिथिल होती हैं , वैसे ही इस योजना के लाभान्वित विद्यार्थियों की संख्या बढ़ जायेगी.

इन जिलों को हुआ सर्वाधिक फायदा

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक 12 वीं पास बच्चों की सर्वाधिक प्रतिशत वाले जिलों मसलन पटना के लिए लक्ष्य 4618, सारण के लिए 3501, गया के लिए 3465, समस्तीपुर के लिए 3465, मुजफ्फरपुर के लिए 3126 और मधुबनी के लिए 3531 विद्यार्थियों को लोन देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

इसी तरह ऐसे जिले भी हैं,जहां लक्ष्य कम निर्धारित हुआ,क्यों कि कुल 12 वीं पास बच्चों में इन जिले के बच्चों की सफलता का प्रतिशत भी बेहद कम रहा. उदाहरण के लिए शिवहर में 328, शेखपुरा में 545, किशनगंज में न्यूनतम 616 विद्यार्थियों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड स्कीम के तहत इस साल लोन दिया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.