पटना: भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का एलान कर दिया है. कैफ ने 16 साल पहले इंग्लैंड के खिलाफ नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल मुकाबले में खेले गए अपनी ऐतिहासिक पारी को याद करते हुए क्रिकेट को अलविदा कहा.

यह वही मुकाबला है जब कैफ की नाबाद 89 रनों की पारी बदौलत के भारत ने सीरीज जीता था और इसके बाद टीम के मौजूदा कप्तान सौरव गांगुली ने ड्रेसिंग रूम में शर्ट खोलकर हवा में लहराई थी.

मोहम्मद कैफ भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे बेहतरीन फील्डरों में एक माने जाते थे. अपने क्रिकेटिंग करियर के शुरुआती दौर में फील्डिंग के दौरान कैफ और युवराज सिंह की जोड़ी काफी मशहूर थी. कैफ आखिरी बार साल 2006 में भारतीय टीम के लिए मैदान पर उतरे थे.

साल 2000 में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए डेब्यू करने वाले मोहम्मद कैफ 13 टेस्ट और 125 मैचों प्रतिनिधित्व किया. टेस्ट क्रिकेट में कैफ का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है. कैफ ने 40.31 की स्ट्राइक रेट से 624 रन बनाए जिसमें एक शतक और तीन अर्द्धशतक शामिल है. टेस्ट क्रिकेट में कैफ का सार्वधिक स्कोर नाबाद 148 रनों का है.

वहीं वनडे क्रिकेट में कैफ ने 72.03 की स्ट्राइक रेट से 2753 रन बनाए हैं. वनडे क्रिकेट में दो शतक और 17 अर्द्धशतक शामिल है.

इंटरनेशनल क्रिकेट के अलावा कैफ ने घरेलू क्रिकेट में भी शानदार प्रदर्शन किया है. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में कैफ ने 10229 रन बनाए हैं जबकि लिस्ट ए मैच में कैफ के नाम 7763 रन दर्ज हैं. वहीं 75 टी-20 मैचों में कैफ ने 1237 रन बनाए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here