मोदी सरनेम वाले बयान पर बुरे फंसे राहुल गांधी, बिहार के मंत्री ने कोर्ट में दी कांग्रेस नेता के खिलाफ गवाही

खबरें बिहार की जानकारी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि से संबंधित एक मुकदम में  एमपी/ एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायिक दंडाधिकारी आदिदेव की अदालत में शुक्रवार को बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने गवाही दी। यह मुकदमा बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राहुल गांधी पर किया है। आरोप है कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि जिनके नाम में मोदी लगा है वह चोर हैं। उन्होंने तीन मोदी नीरव मोदी, ललित मोदी और नरेन्द्र मोदी का जिक्र किया और कहा कि और कितने मोदी चोर होंगे। भाषण का प्रसारण इंटरनेट मीडिया और अगले दिन अखबारों में छपा था।

मुख्य गवाह नितिन नवीन ने कोर्ट को बताया कि राहुल गांधी के बयान देने के बाद दूसरे दिन जब वे उप मुख्यमंत्री कार्यालय में पहुंचे तो उपस्थित लोगों ने कहा कि मोदी नाम हटा लेना चाहिए। मोदी नाम हटा लेने पर सुशील मोदी की राष्ट्रीय छवि बची रहेगी। नितिन ने कहा कि उप मुख्यमंत्री कार्यालय में इस तरह की चर्चा से कर्मचारी और अन्य लोगों के बीच अविश्वास का माहौल बन गया। मंत्री ने कहा कि इस घटना से सार्वजनिक जीवन में सुशील मोदी की छवि पर आघात पहुंचा। राहुल गांधी ने जान बूझकर

सुशील मोदी की छवि को धूमिल करने के लिए ऐसा बयान दिया। साथ ही साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की छवि को भी खराब किया। इस मामले में भाजपा विधायक संजीव चौरसिया और भाजयुमो नेता मनीष कुमार का बयान दर्ज किया जा चुका है। बताते चलें कि 13 अप्रैल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान कर्नाटक के कोलार नामक स्थान पर जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि सारे मोदी चोर हैं। इसी भाषण को लेकर राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने राहुल गांधी के खिलाफ पटना के सीजेएम की अदालत में मुकदमा दायर किया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.