15 जुलाई से बंद हो जायेगा मीठापुर बस स्टैंड, पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से खुलेंगी सारी बसें

खबरें बिहार की

Patna: इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है. नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव आनंद किशोर ने मीठापुर बस स्टैंड को बैरिया स्थित  पाटलिपुत्र बस टर्मिनल में शिफ्ट करने का आदेश दे दिया है. विभाग ने 15 जुलाई तक मीठापुर बस स्टैंड पूरी तरह बंद करने और पाटलिपुत्र बस टर्मिनल को शुरू करने का निर्देश दिया है. बुधवार को नगर विकास एवं आवास विभाग की समीक्षा बैठक में प्रधान सचिव आनंद किशोर ने अधिकारियों को 15 जुलाई से पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से सभी बसों को पूर्णतया संचालित करने के निर्देश दिया. पथ निर्माण विभाग को 15 जुलाई से पहले जीरो माइल से पाटलिपुत्र बस टर्मिनल तक संपर्क पथ के चौड़ीकरण का कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया गया है.

प्रधान सचिव आनंद किशोर ने कहा कि पटना शहर राजधानी होने के साथ-साथ प्रतिष्ठित अध्ययन केंद्र भी है. यहां आर्थिक गतिविधियों के साथ-साथ मेडिकल सुविधाएँ भी हैं. राज्य के विभिन्न जिलों से बस के माध्यम से भारी संख्या में लोगों का आना-जाना लगा रहता है. पटना से अंतरराज्यीय बस टर्मिनल का संचालन किया जा रहा है. इसलिए 15 जुलाई तक मीठापुर बस स्टैंड पूरी तरह बंद करने और पाटलिपुत्र बस टर्मिनल को शुरू करने का निर्देश दिया है. पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार है. डीएम ने कहा कि उन्होंने खुद मीठापुर बस स्टैंड और पाटलिपुत्र बस टर्मिनल का निरीक्षण किया है. 15 जुलाई से इसे शुरू कर दिया जायेगा. पाटलिपुत्र बस टर्मिनल के प्रथम तल की भांति भू-तल पर भी शौचालय, यूरिनल और पेयजल की सुविधा मिलेगी. 

निर्णय लिया गया है कि अब 15 जून से यहां से चार और जिलों के लिए गाड़ियां रवाना होंगी. नालंदा, नवादा, शेखपुरा और जमुई के लिए 15 जून से गाड़ियाों की आवाजाही शुरू होगी. गौरतलब हो कि अब तक इस बस टर्मिनल से गया और जहानाबाद के लिए ही गाड़ियां चलती थी. बाकी जिलों के लिए पटना के बीच स्थित मीठापुर बस अड्डे से ही गाड़ियों का आवागमन होता था. यही वजह है कि बाईपास से लेकर बेऊर जेल मोड़ और मीठापुर बस अड्डे के आसपास लोगों को भीषण जाम का सामना करना पड़ता है.

बिहार में 38 जिले हैं और अभी 2 जिलों के लिए ही बसें रवाना होती है. लेकिन अब 15 जून से चार और जिलों के लिए बस सेवा शुरू करने का फैसला किया गया है. पिछले साल विधानसभा चुनाव से पहले नीतीश कुमार ने बैरिया बस स्टैंड का उद्घाटन किया था और उद्घाटन के बाद ही उन्होंने इस बस स्टैंड को पाटलिपुत्र बस स्टैंड करने का निर्देश दिया था.

बस अड्डे की खासियत – 

1. पाटलिपुत्र बस टर्मिनल 25 एकड़ में फैला हुआ है, रोजाना यहां से 3 हजार गाड़ियों को चलाने का लक्ष्य है.

2. 1 लाख से अधिक यात्री बस टर्मिनल के जरिए बिहार में सफर करेंगे.

3. बसों के परिचालन के लिए अंदर 2 किलोमीटर लंबी सड़क है. 

4. साल 2016 में इस बस स्टैंड का शिलान्यास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया था.

5. सितंबर 2020 में सीएम नीतीश कुमार ने ही इसका उद्घाटन भी किया.

6. टिकट काउंटर के साथ महिलाओं, पुरूषों के लिए अलग-अलग शौचालय, एस्केलेटर के इंतजाम.

7. लिफ्ट के साथ केंद्रीकृत एयरकंडीशन की व्यवस्था है. 

8. व्यावसायिक ब्लॉक में होटल, मल्टीप्लेक्स, रेस्टोरेंट के साथ छोटी दुकानें भी हैं.

Source: First Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *