बिहार में शुरू हुआ मिशन इनकाउंटर, अपराधियों को मार गिरायेगी पुलिस…

खबरें बिहार की

पटना: बिहार में ताबड़तोड़ आपराधिक वारदातों ने नीतीश कुमार को योगी आदित्यनाथ की राह पर चलने पर मजबूर कर दिया है. बिहार पुलिस अब अपराधियों पर गोली चलायेगी. मिशन इनकाउंटर की शुरूआत राजधानी पटना से होगी, जहां वर्दीधारियों को बंदूक का इस्तेमाल करने की खुली छूट दे दी गयी है.

भद्द पिटने के बाद टूटा सब्र

पूरे बिहार में ताबड़तोड़ आपराधिक घटनाओं के बाद आखिरकार सरकार के सब्र का बांध टूटा. आलम ये है कि पटना के बिहटा से लेकर नौबतपुर तक के इलाके में अपराधियों का साम्राज्य चल रहा है. बेखौफ अपराधी दिनदहाड़े पटना में बैंक लूट ले जा रहे हैं. इसके बाद आज आखिरकार सरकार हरकत में आयी. पटना के आई जी ने आज राजधानी के पुलिस अधिकारियों की बैठक बुलायी और फिर गोली चलाने का फरमान जारी कर दिया गया.

क्या है आईजी का फरमान…

पटना के आईजी नैय्यर हसनैन खां ने अपने आदेश में सभी पुलिस अधिकारियों को हर वक्त रिवॉल्वर या पिस्टल से लैस रहने को कहा है. आई जी ने ASI से लेकर इंस्पेक्टर स्तर के सभी पुलिस अधिकारी को दो दिनों के अंदर पिस्टल ले लेने को कहा है. पुलिसकर्मी पिस्टल लेकर ही छापेमारी करने जायेंगे, जहां जरूरत हुई वहां इसका उपयोग करेंगे. आईजी ने वर्दीधारियों को जरूरत पड़ने पर धुआंधार फायरिंग करने की छूट दे दी है.

पटना में आयेंगे इनकाउंटर स्पेशलिस्ट इंस्पेक्टर…

पटना को शांत करने और मिशन इनकाउंटर को सफल बनाने के लिए पांच खास पुलिस इंस्पेक्टर की तैनाती की जा रही है. पुलिस मुख्यालय ऐसे इनकाउंटर स्पेशलिस्ट इंस्पेक्टरों की सूची बना रहा है. दो दिनों के अंदर उनकी तैनाती कर दी जायेगी. मुठभेड़ के माहिर अधिकारियों को उन इलाकों में तैनात किया जायेगा जो ज्यादा अशांत हैं.

100 मोटरसाइकिलों से बना क्वीक मोबाइल…

ऑपरेशन इनकाउंटर को अंजाम देने के लिए क्वीक मोबाइल का गठन कर दिया गया है. 100 मोटरसाइकिलों का ये क्वीक मोबाइल पूरे पटना में गश्त करेगा. हर मोटरसाइकिल पर हथियार से लैस पुलिस के दो जवान रहेंगे. जहां अपराधी मिले, वहीं उनकी दवाई हो जायेगी. क्वीक मोबाइल के लिए वैसे जवानों की खास तौर पर शिनाख्त की जा रही है जो जरूरत पड़ने पर हथियार चलाने का माद्दा रखते हों.

स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप भी बनाया गया…

आई जी के निर्देश पर तत्काल स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप बनाया गया है. डीएसपी रामाकांत प्रसाद को इस ग्रुप का हेड बनाया गया है. पांच और पुलिस अधिकारियों को इसमें शामिल किया गया है. स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप बिहटा और नौबतपुर क्षेत्र में आतंक फैला रहे दस अपराधियों को ढूंढ़ेगा. गिरफ्तार हुए तो ठीक वर्ना पुलिस गोली चलायेगी.

Source: News Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.